चित्र या ग्राफो के रूप में जो कुछ अलग-अलग प्रदर्शित किया जा सकता है उन सभी को सुविधापूर्वक अलग-अलग एक लाइन चार्ट का उदाहरण या इक्ट्ठे रूप में प्रदर्शित करने का कार्य चाटों द्वारा अच्छी तरह किया जा सकता है। डेल के अनुसार, “चार्ट एक दृश्य सामग्री चिन्ह ” है जो विषय-वस्तु के सार, तुलना या किसी दूसरी क्रिया की व्याख्या करने में सहायता देता है” चार्ट की सहायता से संख्यात्मक और गुणात्मक दोनो ही प्रकार एक लाइन चार्ट का उदाहरण की सूचनाओं व तथ्यों को प्रदर्शित किया जा सकता है। कक्षा शिक्षण के प्रत्येक स्तर पर चाहे वह पूर्व ज्ञान परीक्षा या प्रस्तावना से सम्बन्धित हो या विषय वस्तु के क्रमबद्ध प्रस्तुतीकरण, पुनरावृति, अभ्यास अथवा गृहकार्य प्रदान करने से, चार्ट सभी स्तर पर अध्यापक को उसके कार्य में सहायता प्रदान करते है। यही कारण है कि सभी विषयों से सम्बन्धित पाठ्य सामग्री के शिक्षण-अधिगम कार्यो में वार्टो से पूरी सहायता लेने का प्रयास किया जाता है। तथ्यो या विचारो को एक क्रमबद्ध लड़ी में प्रस्तुत करने के लिए चार्ट अत्यन्त महत्वपूर्ण सिद्ध होते है। उदाहरण के लिए इतिहास शिक्षण में महात्मा बुद्ध की शिक्षाओं को स्पष्ट किया जा सकता है।

एक लाइन चार्ट का उदाहरण

R में Line Graph ये plot() इस function का इस्तेमाल किया जाता है | Line Graph में दिए हुए values को point करके line को draw किया जाता है |

x : यहाँ पर numeric vector दिया जाता है |

type : character. अगर 'p' दिया जाता है तो सिर्फ points को draw एक लाइन चार्ट का उदाहरण किया जाता है | अगर 'l' दिया जाता है तो सिर्फ line को draw किया जाता है | अगर 'o' दिया जाता है तो points और lines को draw किया जाता है |

col : points और lines को color दिया जाता है |

xlab : x-axis को label दिया जाता है | default x-axis label 'Index' होता है |

ylab : y-axis को label दिया जाता है | default y-axis label 'vector या उसका variable_name' होता है |

xlim : x-axis को limit दी जाती है |

Example पर points पर lines को draw किया गया है |

Example पर plot() function के type parameter के 'l' value की मदद से सिर्फ lines को ही draw किया गया है |

Example पर line graph पर title, x-axis label और y-axis label को set किया गया है |

Example पर lines() function की मदद से multiple line graphs को एक ही plot पर draw किया गया है |

एक लाइन चार्ट का उदाहरण

R में Line Graph ये plot() इस function का इस्तेमाल किया जाता है | Line Graph में दिए हुए values को point करके line को draw किया जाता है |

x : यहाँ पर numeric vector दिया जाता है |

type : character. अगर 'p' दिया जाता है तो सिर्फ points को draw किया जाता है | अगर 'l' दिया जाता है तो सिर्फ line को draw किया जाता है | अगर 'o' दिया जाता है तो points और lines को draw किया जाता है |

col : points और lines को color दिया जाता है |

xlab : x-axis को label दिया जाता है | default x-axis label 'Index' होता है |

ylab : y-axis को label दिया जाता है | default y-axis label 'vector या उसका variable_name' होता है |

xlim : x-axis को limit दी जाती है |

Example पर points पर lines को draw किया गया है |

Example पर plot() function के type parameter के 'l' value की मदद से सिर्फ lines को ही draw किया गया है |

Example पर line graph पर title, x-axis label और y-axis label एक लाइन चार्ट का उदाहरण को set किया गया है |

Example पर lines() function की मदद से multiple line graphs को एक ही plot पर draw किया गया है |

एक चार्ट बनाएं जो कालानुक्रमिक अक्ष का एक लाइन चार्ट का उदाहरण उपयोग करता है

कालानुक्रमिक क्रम में पंक्ति वस्तुओं में डेटा को व्यवस्थित करने के लिए एक कालानुक्रमिक अक्ष का उपयोग किया एक लाइन चार्ट का उदाहरण जाता है। क्रमिक पंक्ति अक्ष के साथ, डेटा प्रकार की परवाह किए बिना डेटा को समान अंतराल में व्यवस्थित किया जाता है। हालांकि, कालानुक्रमिक अक्ष का उपयोग करके, आप एक निर्दिष्ट समय अंतराल में अक्ष तराजू की व्यवस्था कर सकते हैं। एक लाइन चार्ट का उदाहरण कालानुक्रमिक अक्ष और क्रमिक अक्ष के बीच मुख्य अंतर यह है कि कालानुक्रमिक अक्ष डेटा से जुड़ा नहीं है।

निम्नलिखित चित्र साप्ताहिक बिक्री डेटा के आधार पर दो लाइन चार्ट दिखाते हैं जिसमें दो दिनों के लिए बिक्री दर्ज नहीं की जाती है; एक कालानुक्रमिक अक्ष (बाएं) का उपयोग करता है और दूसरा कालानुक्रमिक अक्ष (दाएं) का उपयोग नहीं करता है। लाल रंग में तारीखें डेटा इनपुट के साथ दिनों का प्रतिनिधित्व करती हैं। दो दिनों तक कोई डेटा चार्ट चार्ट पर पंक्ति अक्ष पर नहीं रहता है जो कालानुक्रमिक अक्ष का उपयोग करता है जबकि वे चार्ट पर हटा दिए जाते हैं जो कालानुक्रमिक अक्ष का उपयोग नहीं करते हैं।

लाइन चार्ट मेकर

निर्देश : नीचे दिए गए फॉर्म का उपयोग करके लाइन चार्ट बनाने के लिए इस लाइन प्लॉट मेकर का उपयोग करें। आपको बस इतना करना है कि वाई डेटा टाइप करें (और वैकल्पिक रूप से आपके एक्स लेबल)। साथ ही, आप एक शीर्षक को कुल्हाड़ियों में एक नाम जोड़ सकते हैं।

के बारे में रेखा चार्ट : एक लाइन चार्ट या लाइन प्लॉट एक प्रकार का ग्राफिकल प्रतिनिधित्व है जिसमें विशेषता है कि डेटा बिंदु सीधी रेखाओं से जुड़ते हैं। इस तरह की सेटिंग कुछ परिस्थितियों में समझ में आती है, उदाहरण के लिए एक समय श्रृंखला के मामले में, लेकिन क्रम के मामलों में, एक स्कैटर प्लॉट अधिक उपयुक्त हो सकता है (अधिकांश क्रॉस-अनुभागीय डेटा के मामले में)।

चार्टो का प्रभावपूर्ण उपयोग ( Effective Use of Charts )

चार्टो का दृश्य साधन के रूप में अच्छी तरह एक लाइन चार्ट का उदाहरण प्रयोग करने के लिए निम्न बातों पर ध्यान दिया जाना एक लाइन चार्ट का उदाहरण चाहिए-

(i) चार्टो के द्वारा निश्चित शैक्षिक उद्देश्यो की प्राप्ति में सहायता मिलनी चाहिए।

(ii) यद्यपि विभिन्न प्रकार के चार्ट पुस्तकालय तथा बाजार में उपलब्ध हो सके परन्तु जहाँ तक संभव हो सके इनका निर्माण अध्यापक की देख-रेख में छात्रों द्वारा किया जाना चाहिये।

(iii) जिस विचार, तथ्य, सूचना अथवा प्रक्रिया को चार्ट द्वारा प्रदर्शित करना हो उसके ऊपर भली-भाँति विचार कर चार्ट की दृश्य सामग्री को इस प्रकार दिखाया जाना चाहिए कि उससे प्रस्तुत विषय को स्पष्ट एंव प्रभावपूर्ण ढंग से अभिव्यक्त किया जा सके।

(iv) विषय वस्तु, छात्रों स्तर, उपलब्ध शिक्षण-अधिगम परिस्थितियों आदि बातों को ध्यान में रखकर ही उपयुक्त प्रकार के चार्टो का चयन किया जाना चाहिये।

रेटिंग: 4.42
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 120