इंडिया.कॉम 26-11-2022 [email protected] (India.com News Desk)

क्रिप्टो करेंसी पर 1% टीडीएस लायेगा पारदर्शिता और वास्तविक खरीदार: कॉमर्स में क्रिप्टोकरेंसी विशेषज्ञ

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने क्रिप्टोकरेंसी के लेनदेन पर मंगलवार को स्पष्टीकरण जारी किया. आयकर विभाग ने मंगलवार को कहा कि डिजिटल परिसंपत्ति (वीडीए) या क्रिप्टोकरेंसी के आदान-प्रदान में खरीदार एवं विक्रेता दोनों को ही अपने स्तर से टीडीएस (कॉमर्स में क्रिप्टोकरेंसी स्रोत पर कर कटौती) काटना होगा.

नई दिल्ली : केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने क्रिप्टोकरेंसी के लेनदेन पर मंगलवार को स्पष्टीकरण जारी किया. आयकर विभाग ने मंगलवार को कहा कि डिजिटल परिसंपत्ति (वीडीए) या क्रिप्टोकरेंसी के आदान-प्रदान में खरीदार एवं विक्रेता दोनों को ही अपने स्तर से टीडीएस (स्रोत पर कर कटौती) काटना होगा. सीबीडीटी ने कहा कि आयकर अधिनियम की धारा 194एस के मुताबिक खरीदार को वीडीए के लेनदेन में कर कटौती करनी होगी. बाजार विशेषज्ञों का कहना है कि बिटकॉइन, एथेरियम, टीथर, शिबू इनु और डॉगकोइन जैसी क्रिप्टो मुद्राओं और ऐसी अन्य आभासी मुद्राओं और अपूरणीय टोकन के लेनदेन पर एक प्रतिशत कर की कटौती पारदर्शिता लाएगी और वास्तविक खरीदारों को प्रोत्साहित करेगी. सरकारी विनियमन के अनुसार, क्रिप्टो और अन्य आभासी मुद्राओं के व्यापार पर 1% टीडीएस 1 जुलाई से लागू हो गया है. इसके परिणामस्वरूप क्रिप्टो-मुद्राओं जैसे वजीरएक्स, जेबपे और कॉइनडीएक्स जैसे क्रिप्टो-मुद्राओं के व्यापार में भारी कमी आई है.

आंकड़ों के मुताबिक पिछले चार दिनों कॉमर्स में क्रिप्टोकरेंसी में कारोबार में 30-70% की गिरावट आई है. यह दूसरा उदाहरण है जब देश में चल रहे क्रिप्टो एक्सचेंजों पर कॉमर्स में क्रिप्टोकरेंसी क्रिप्टो मुद्राओं का व्यापार नियामक परिवर्तनों के बाद काफी कम हो गया है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस साल फरवरी में घोषित इस साल के बजट में क्रिप्टो मुद्राओं के व्यापार पर बुक किए गए लाभ पर 30% कर लगाने की घोषणा की थी. परिणामस्वरूप, अप्रैल की शुरुआत से नया कर लागू होने पर क्रिप्टो मुद्राओं के व्यापार में 30-70% की गिरावट आई थी.

चालू वर्ष में यह दूसरी बार है जब नियामक परिवर्तनों के परिणामस्वरूप क्रिप्टो मुद्राओं के व्यापार में भारी गिरावट आई है. हालांकि, कुछ विशेषज्ञ आशंकाओं को खारिज करते हैं क्योंकि उनका मानना है कि इन कदमों से बाजार में वास्तविक खरीदारों को प्रोत्साहन मिलेगा. एनसीआर स्थित ई-कॉमर्स और इंटरनेट कंपनी टू99 के सीईओ अगम चौधरी का कहना है कि क्रिप्टो ट्रेडिंग पर एक प्रतिशत टीडीएस लगाना सरकार का एक सकारात्मक और रचनात्मक कदम है.

ईटीवी भारत से उन्होंने कहा कि वास्तव में, यह सरकार द्वारा एक और स्वीकृति है. चौधरी का कहना है कि नया टीडीएस नियम क्रिप्टो ट्रेडिंग में अधिक पारदर्शिता लाएगा. सरकार को लेनदेन पर नजर रखने में मदद करेगा. उनका कहना है कि इसके विरोधी पहलुओं पर ध्यान केंद्रित करने के बजाय, अभी यह सवाल होना चाहिए. एनएफटी परियोजनाएं टेबल पर कौन सी उपयोगिता ला रही हैं? सरकार काफी समय से क्रिप्टो मुद्राओं को विनियमित करने की कोशिश कर रही है. आभासी संपत्ति के नियमन के लिए एक विधेयक इस साल संसद के बजट सत्र में पेश किया जाना था, लेकिन इसमें देरी हुई है.

सरकार ने विनियामक अनिश्चितता को समाप्त करने के लिए विधेयक लाने के बजाय देश में क्रिप्टो मुद्राओं के व्यापार पर बुक किए गए लाभ पर 30% आयकर लगाने का निर्णय लिया. आमतौर से सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक क्रिप्टो मुद्राओं को प्रोत्साहित करने के खिलाफ रहे हैं. प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने मनी लॉन्ड्रिंग और आतंक के वित्तपोषण के लिए क्रिप्टो मुद्राओं और ऐसे अन्य आभासी टोकन के उपयोग के खिलाफ चेतावनी दी है. नोएडा स्थित प्रौद्योगिकी कंपनी, पी2ई प्रो के संस्थापक तपन संगल ने स्वीकार किया कि नए टीडीएस नियम के लागू होने से एक प्रचार और डर पैदा हो गया है कि यह भारत में एनएफटी के विकास की गति को धीमा कर देगा. हालांकि, संगल ने इन आशंकाओं को खारिज करते हुए कहा कि इसके विपरीत, विकास की गति यहां से तभी बढ़ेगी जब एनएफटी के वास्तविक खरीदार बाजार में प्रवेश करेंगे. ईटीवी भारत से संगल ने कहा कि इस तरह से अनियंत्रित क्रिप्टो और विकेंद्रीकृत वित्त विश्व-आधारित एनएफटी निश्चित रूप से हतोत्साहित होंगे. तपन संगल का कहना है कि यह सिर्फ टीडीएस नियम के कारण नहीं है, बल्कि ऐसे नियमों का पालन करने वाले अनुपालन और खुलासे के कारण है.

क्रिप्टो बाजार में हाहाकार, Bitcoin की कीमत 22500 डॉलर के नीचे आई

बिजनेस डेस्कः क्रिप्टोकरेंसी बाजार में बीते 24 घंटों में बड़ी गिरावट देखने को मिली। बिटकॉइन 22,500 डॉलर के नीचे आ गया। पिछले 24 घंटे के दौरान दुनिया की सबसे बड़ी और लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी 16 फीसदी गिरकर 22,461 डॉलर पर आ गई। बीते सात दिनों में बिटकॉइन में 28 फीसदी की गिरावट आ चुकी है। बीते 24 घंटों में बिटकॉइन का ट्रेडिंग वॉल्यूम 68,191,548,462 डॉलर रहा और इसकी मार्केट कैप 428,771,277,800 डॉलर रही।

एक्सपर्ट्स की उम्मीदों से भी अधिक गिरा बिटकॉइन
बिटकॉइन में इस साल 47 फीसदी की गिरावट आ चुकी है। नवंबर, 2021 में बिटकॉइन ने 69,900 डॉलर का उच्चतम स्तर छूआ लेकिन इसके बाद से बिटकॉइन में गिरावट आई लेकिन तब से ये एक एक रेन्ज में कारोबार कर रहा है। आज बिटकॉइन में इतनी ज्यादा गिरावट देखने को मिली की ये एक्सपर्ट्स की उम्मीदों से भी अधिक है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक मॉनेटरी पॉलिसी और सख्त नियमों के कारण बिटकॉइन में गिरावट आ रही है।

दूसरी ओर ईथर, एथेरियम ब्लॉकचैन से जुड़ी क्रिप्टोकरेंसी लगभग 16.57 प्रतिशत से अधिक गिरकर 1,204 डॉलर पर आ गई। ये अपने 15 महीने के न्यूनतम स्तर पर है। ये दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी है। इस बीच dogecoin आज 8 फीसदी की गिरावट के साथ 0.05 डॉलर पर कारोबार करता नजर आया। जबकि, शीबा इनु में 1.62 फीसदी की गिरावट रही और ये 0.000008 डॉलर पर कारोबार करता नजर आया। ग्लोबल क्रिप्टोकरेंसी बाजार का मार्केट कैप 1.08 ट्रिलियन डॉलर रहा। इसमें बीते 24 घंटों में 8 फीसदी की गिरावट रही।

ये रहा अन्य क्रिप्टोकरेंसी का हाल
Stellar, Uniswap, XRP, Tron, Tether, Solana, Polkadot, Avalanche, Polygon, Cardano, Litecoin, Chainlink, Terra Luna Classic, Cardano, Litecoin की कीमतों में बीते 24 घंटों में गिरावट रही। कॉमर्स में क्रिप्टोकरेंसी इनमें से कुछ में 20 से 25 फीसदी तक की गिरावट आई है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

अमेरिका ने ताइवान को दो नए महत्वपूर्ण हथियारों की बिक्री की मंजूरी दी

अमेरिका ने ताइवान को दो नए महत्वपूर्ण हथियारों की बिक्री की मंजूरी दी

अमेरिका ने नाटो सहयोगी पोलैंड को अब्राम टैंक की बिक्री की मंजूरी दी

अमेरिका ने नाटो सहयोगी पोलैंड को अब्राम टैंक की बिक्री की मंजूरी दी

अमेरिकी अदालत ने सऊदी प्रिंस के खिलाफ हत्या के मुकदमे को किया खारिज

अमेरिकी अदालत ने सऊदी प्रिंस के खिलाफ हत्या के मुकदमे को किया खारिज

भारत-मध्य एशियाई देशों की बैठक में आतंकवाद से निपटने के लिए सामूहिक कार्रवाई का आह्वान

भारत-मध्य एशियाई देशों की बैठक में आतंकवाद से निपटने के लिए सामूहिक कार्रवाई का आह्वान

किसी भी तरह का LOAN लेने से पहले जान लें ये खास बात वरना हो सकता है आर्थिक नुकसान

Cryptocurrency क्रिप्टोकरेंसी बाजार में बनी रहेगी: पेटीएम संस्थापक

bitcoin

File Photo

कोलकाता. वित्तीय प्रौद्योगिकी कंपनी पेटीएम के संस्थापक विजय शेखर शर्मा ने बृहस्पतिवार को कहा कि क्रिप्टोकरेंसी को लेकर जताई जा रही तमाम आपत्तियों के बावजूद यह आभासी मुद्रा बनी रहने वाली है। शर्मा ने उद्योग मंडल इंडियन चैंबर ऑफ कॉमर्स (आईसीसी)के एक कार्यक्रम को ‘ऑनलाइन’ संबोधित करते हुए कहा कि क्रिप्टोकरेंसी असल में सुरक्षित संचार तकनीकों के अध्ययन वाली विधा क्रिप्टोग्राफी पर आधारित मुद्रा है।

उन्होंने कहा, “क्रिप्टो सिलिकॉन वैली की तरफ से वॉल स्ट्रीट को एक जवाब है। मैं इसे लेकर खासा सकारात्मक हूं। कुछ वर्षों में यह हमारी रोजमर्रा की जिंदगी का हिस्सा बन चुके इंटरनेट की तरह मुख्यधारा की प्रौद्योगिकी हो जाएगी।”

क्रिप्टोकरेंसी के नियमन के लिए भारत में विधेयक लाने की तैयारी चल रही है। इससे पहले भारतीय रिजर्व बैंक भी इसके दुरुपयोग को लेकर गहरी आशंका जता चुका है। इस संदर्भ में पेटीएम संस्थापक ने कहा कि इस डिजिटल मुद्रा के बारे में इस समय भ्रम की स्थिति है।

उन्होंने कहा, “हर सरकार इसे लेकर संशयग्रस्त है। लेकिन अगले पांच वर्षों में यह मुख्यधारा की प्रौद्योगिकी बन जाएगी।” हालांकि उन्होंने कहा कि क्रिप्टोकरेंसी परंपरागत मुद्रा की जगह नहीं ले पाएगी। (एजेंसी)

Black Friday के नाम पर हैकर्स बना रहे खरीदारों को बेवकूफ, धड़ाधड़ चुरा रहे डेटा

इंडिया.कॉम लोगो

इंडिया.कॉम 26-11-2022 [email protected] (India.com News Desk)

एक नई रिपोर्ट से पता चला है कि ब्लैक फ्राइडे थीम कॉमर्स में क्रिप्टोकरेंसी और ई-कॉमर्स, क्रिप्टोकरेंसी और यात्रा के आसपास केंद्रित दुर्भावनापूर्ण अभियानों के लिए थ्रेट एक्टर्स वेबसाइटों का इस्तेमाल कर रहे हैं, जो शीर्ष लक्ष्य हैं. शोधकर्ताओं ने पाया कि विभिन्न भाषाओं में साइबर क्राइम फोरम ब्लैक फ्राइडे के बारे में बात कर रहे हैं. क्लाउडएसईके के शोधकर्ताओं के अनुसार, जिन्होंने एथेरियम गिवअवे स्कैम वेबसाइट की भी खोज की, कुछ अपनी दुर्भावनापूर्ण सेवाओं/अभियानों को बढ़ावा दे रहे हैं, जबकि अन्य उनका लाभ उठाना चाह रहे हैं.

उन्होंने चेतावनी दी- व्यक्तिगत पहचान योग्य जानकारी (पीआईआई) और बैंकिंग क्रेडेंशियल्स का उपयोग अनधिकृत लेनदेन और सोशल इंजीनियरिंग हमलों को करने के लिए किया जा सकता है. क्लाउडएसईके के प्रासंगिक एआई डिजिटल रिस्क प्लेटफॉर्म 'एक्सविगिल' ने सैकड़ों ब्लैक फ्राइडे-थीम वाले डोमेन को पंजीकृत और चालू पाया.

हमलों के सामान्य रूपों में वैध वेबसाइटों का प्रतिरूपण, गूगल/फेसबुक विज्ञापनों के लिए सेवाएं और दुर्भावनापूर्ण एप्लिकेशन का प्रसार शामिल था. क्लाउडएसईके की साइबर थ्रेट रिसर्चर रिशिका देसाई ने कहा, विभिन्न तकनीकों का उपयोग करके पीड़ितों की महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए एक वेबसाइट की मेजबानी करने से लेकर पीड़ितों की महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करने तक, विभिन्न तत्व यहां काम करते हैं.

खोज से पता चला कि वेबसाइट क्लोनिंग एक सामान्य तकनीक है जिसका उपयोग सभी स्तरों के हैकर वैध वेबसाइटों के नकली उदाहरणों को होस्ट करने के लिए करते हैं. देसाई ने कहा, प्रतिष्ठित ब्लैक फ्राइडे सेल अब एक वैश्विक विषय बन गया है जहां हर स्तर पर साइबर अपराधी और विशेषज्ञता दुर्भावनापूर्ण अभियान शुरू करने की पूरी कोशिश करते हैं. इनमें से अधिकांश अभियान लोकप्रिय ब्रांडों और कंपनियों को जनता को धोखा देने के लिए बिक्री और कॉमर्स में क्रिप्टोकरेंसी सेवाएं प्रदान करने का दुरुपयोग करते हैं.

शोधकर्ताओं ने फ्री उपहारों, आकर्षक सौदों और संदिग्ध तीसरे पक्ष के समाधानों के बारे में जागरूक रहने की सलाह दी.

WhatsApp यूजर के लिए शानदार खबर, जल्‍द Bitcoin जैसी डिजिटल करंसी से कर पाएंगे खरीदारी

लोगों को इश्तिहार के जरिए ज्यादा कमाई के मौके भी मिलेंगे। (Reuters)

Facebook अपनी डिजिटल करंसी (Digital Currency) लेकर आ रही है। पहले इसका नाम लिब्रा (Libra) फाइनल हुआ था लेकिन अब Facebook Cryptocurrency का नाम Diem होगा। यह Cryptocurrency इसी साल लॉन्‍च होगी। फेसबुक की मानें तो Diem को ग्लोबली इस्तेमाल किया जाएगा। इससे E commerce को बढ़ावा मिलेगा।

नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। Facebook अपनी डिजिटल करंसी (Digital Currency) लेकर आ रही है। पहले इसका नाम लिब्रा (Libra) फाइनल हुआ था लेकिन अब Facebook Cryptocurrency का नाम Diem होगा। यह Cryptocurrency इसी साल लॉन्‍च होगी। फेसबुक की मानें तो Diem को न केवल ग्लोबली इस्तेमाल किया जाएगा बल्कि इससे E commerce को बढ़ावा मिलेगा। लोगों को इश्तिहार के जरिए ज्यादा कमाई के मौके भी मिलेंगे। हालांकि इस समय Cryptocurrency Bitcoin की कीमत काफी नीचे है।

28 कंप‍नियों से पार्टनरशिप

पहले खबर थी कि Facebook ने डिजिटल करेंसी Libra के लिए पेपाल, Uber समेत 28 कंपनियों के साथ पार्टनरशिप की है। Libra की लॉन्चिंग में Facebook लगातार सक्रिय रही। Cryptocurrency लाने के लिए Facebook ने कानूनी प्रकिया पूरी कर ली है। Data Privacy के विवादों को पहले से झेल रही Facebook का कहना है कि यह यूजर की बैंक डिटेल और पेमेंट संबंधित सारा डेटा सेफ रखेगा।

Digital Rupee: RBI Says need not be panic on privacy concerns

आसानी से होगा लेन-देन

Facebook के मुताबिक Diem ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर काम करेगी। इसके जरिए लोग पैसों का ट्रांजेक्शन कर सकेंगे, पैसे का लेन-देन आसानी से कर सकेंगे।

आम आदमी इस्तेमाल करेगा Diem

Facebook का कहना है कि ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी इस साल आ जाएगी। Blockchain को फेसबुक के सभी प्लेटफार्म मैसेंजर, WhatsApp और इंस्टाग्राम से इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसमें यूजर का डेटा महफूज रहेगा।

Home Loan EMI increase after RBI Repo Rate Hike (Jagran File Photo)

मल्टी करंसी Coin होगा पहला सेट

Facebook इसे दो सेट में लॉन्च कर सकती है। पहला सेट मल्टी करंसी Coin होगा और दूसरा सेट डॉलर-यूरो मिक्‍स फेस वैल्यू वाला होगा। Diem के जरिए मनी ट्रान्सफर Fees Nominal होगी। फेसबुक डिजिटल करंसी प्रोजेक्ट ग्रुप Diem Association के साथ मिलकर Diem को लॉन्च करेगी।

Diem के फायदे

Facebook, WhatsApp और Instagram पर पैसों का लेन-देन होगा।

GDP to be 6.8 Percent in FY23, inflation may be 6.6 Percent in October-December quarter says RBI

Facebook Digital Wallet ऐप से डिजिटल करंसी ट्रांजेक्शन को ट्रैक कर सकेंगे।

Digital currency के ट्रांजेक्शन पर एक्सट्रा चार्ज नहीं।

Cryptocurrency Diem को खरीद और बेच सकेंगे।

क्‍या होती है Digital currency

Digital currency को क्रिप्टोकरेंसी भी कहते हैं। यह आभासी मुद्रा है। इसे रुपये या डॉलर की तरह देख या छू नहीं सकते। Cryptocurrency को प्रिंट नहीं किया करते। इसे ट्रांजेक्शन के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। किसी सरकार या बैंक का इस पर नियंत्रण नहीं होता है। हालांकि इसका इस्तेमाल सामान या सर्विस की खरीद-फरोख्त के लिए किया जा सकता है।

रेटिंग: 4.77
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 274