Bitcoin

जानिए क्या है क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency)?

Home » जानिए क्या है क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency)?

एक समय ऐसा था जब दुनिया में किसी भी प्रकार की मुद्रा नहीं चलती थी। पुराने ज़माने में लेन-देन केवल वस्तुओ के माध्यम से ही किया जाता था। जिसे हम सब Barter System के नाम से भी जानते हैं। लेकिन जेसे-जेसे समय बदलता गया वेसे-वेसे दुनिया अपग्रेड होती रही, और कुछ समय बाद नोट और सिक्कों का निर्माण हुआ जिस से लेन-देन का तरिका पूरी तरह से बदल गया।

और आज के समय में यही नोट और सिक्के हमारे प्रमुख करेंसी है, जिनके आधार पर पूरी दुनिया का लेने-देन चलता आ रहा है।

लेकिन क्या आप जानते हैं इनके अलावा भी एक करेंसी (Currency) है जो पूरी तरह से डिजिटल है। और इस डिजिटल करेंसी को क्रिप्टोकरेंसी के नाम से जाना जाता है।आज समय एकदम फास्ट फॉरवर्ड हो चुका है, टेक्नोलॉजी (Technology) के साथ हर रोज एक नया आविष्कार कर के लोगो में जागरुकता फेला रहा है। लेकिन कई लोगो के मन में अभी भी ये प्रश्न है की क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) क्या है? और ये करेंसी डिजिटल हो के भी काम कैसे करती हैं? साथ ही इसे इस्तमाल करने के फ़ायदे क्या है?

सारे स्वालो के जवाब जान ने के लिए आर्टिकल (Article) को पूरा जरूर पढ़े।

मुद्रा (Currency) क्या है?

क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) को समझने से पहले हम Bitcoin का आविष्कार किसने किया था जानेंगे की करेंसी (Currency) क्या है।

देखा जाए तो आज हर देश के पास अपनी-अपनी करेंसी है। जेसे भारत के पास अपनी मुद्रा (Currency) रुपया है, वेसे ही अमेरिका के पास डॉलर है। और हर एक देश के पास ठीक इसी तरह अपनी-अपनी देश की मुद्रा (Currency) है। करेंसी वो है जो देश दवारा मान्याता प्रपात की गई हो। तभी उस करेंसी की असली वैल्यू (Value) मानी जाती है। करेंसी के बदले में कोई भी वस्तु या सेवा खरीदी जा सके, उसे ही करेंसी कहा जाता है। देखा जाए तो करेंसी कागज और धातु के रूप में बनाये जाते हैं जो सरकार द्वार मान्य हो। इन करेंसी को हम आशनी से छू सकते है, पकड़ सकते हैं या फिर पर्स में रख भी सकते हैं। तभी इनको भौतिक मुद्रा (Physical Currency) के नाम से भी जाना जाता है। लेकिन क्रिप्टोकरेंसी के मामले ऐसा नहीं होता है।

जानिए क्या है क्रिप्टोकरेंसी?

क्रिप्टोकरेंसी , जिसे क्रिप्टो-मुद्रा या क्रिप्टो के रूप में भी जाना जाता है, एक प्रकार की डिजिटल या आभासी मुद्रा (Virtual Currency) है जो लेनदेन की सुरक्षा के लिए क्रिप्टोग्राफी का उपयोग करता है। क्रिप्टोकरेंसी ऐसी मुद्रा है जिसे विकेंद्रीकृत प्रणाली (Decentralized System) द्वारा प्रबंधित (managed) किया जाता है।

दूसरे शब्दों में समझे तो ये एक ऐसी करेंसी है जो ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी (Blockchain Technology) पर आधारित है, जो क्रिप्टोग्राफी द्वारा सुरक्षित भी है। जिस कारण से इसे हैक (Hack) करना या कॉपी (Copy) करना बहुत ही मुश्किल है।

देखा जाये तोह क्रिप्टोकरेंसी का Physical कोई भी अस्तित्व नहीं है क्योंकि यह ऐसी डिजिटल करेंसी है जो Computer Algorithm पर बनी है। क्रिप्टोकरेंसी की सबसे खास बात यह है कि ये पूरी तरह से विकेंद्रीकृत है मतलब किसी भी देश या सरकार का इस पर नियंत्रण (Control) नहीं है।

क्या क्रिप्टोकरेंसी की Value है?

क्रिप्टोकरेंसी को भले ही किसी नोट या सिक्को में प्रिंट (Print) नहीं किया जाता। लेकिन आज के समय में इसकी अपनी वैल्यू है। इसे भले ही आप अपने पॉकेट या तिजोरी में रख नहीं सकते लेकिन आप इसका भरपुर इस्तेमाल कर सकते है जैसे आप देश की करेंसी को करते है।

क्रिप्टोकरेंसी से आप सामान खरीद सकते है, Investment कर सकते है, Trade कर सकते है। फर्क सिर्फ इतना है कि आप इसे किसी भी बैंक या लॉकर में नहीं रख सकते हैं क्योंकि यह पूरी तरह से डिजिट (Digit) पर आधारित है यानी आप इसे ऑनलाइन ट्रांजैक्शन (Online Transaction) के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं। इसीलिए इसे डिजिटल मनी (Digital Money) और वर्चुअल मनी (Virtual Money) भी कहा जाता है।

क्रिप्टोकरेंसी का आविष्कार:

दुनिया का सबसे पहले क्रिप्टोकरेंसी “Bitcoin” है। इसका आविष्कार सातोशी नाकामोतो नामक एक इंजीनियर ने 2008 में किया था और 2009 में इसे ओपन-सोर्स सॉफ्टवेयर के रूप में जारी किया गया था। कहा जाता है ब्लॉकचेन पे सबसे पहले रन होने वाली करेंसी भी बिटकॉइन “Bitcoin” ही थी।

कुछ विशेषज्ञ (Experts) के अनुसार सन 2008 से लेकर सन 2022 तक अनुमान लगाया जा रहा है की मार्केट में 20,000 से भी ज्यादा क्रिप्टोकरंसी लॉन्च हो चुके हैं। मतलब क्रिप्टोकोर्रेंसी शुरुआती दौर से ही अपनी कामियाबी की छाप छोड़ता जा रहा है। कहा जाता है की आने वाले समय में क्रिप्टोकुरेंसी और भी ज्यदा उपयोगी और फायदेमंद सबित होगा।

Top क्रिप्टोकुरेंसी (Cryptocurrencies)

Bitcoin: हाल ही आपने लेख (Article) में पढ़ा की बिटकॉइन दुनिया की सबसे पहली क्रिप्टोकरेंसी है।

Ethereum: एथेरियम एक विकेंद्रीकृत ओपन-सोर्स ब्लॉकचेन है। CoinMarket Cap के हिसब से यह दुनिया की दुसरी बड़ी क्रिप्टो करेंसी में से है। इसका आविष्कार 2015 में हुआ था और से ईथर (Ether) के नाम से भी जाना जाता है।

Dogecoin: डॉगकॉइन का निर्माण 2013 में दुनिया के सबसे बेहतरीन दो सॉफ्टवेयर इंजीनियर्स ने किया था। यह ऐसी क्रिप्टोकरेंसी है जिसका नाम एक Sarcastic meme के आधार पर रखा गया है।

CNF Token: CNF टोकन का निर्माण 2021 में हुआ था। CNF टोकन TRC 20 टोकन है जो ट्रॉन ब्लॉकचेन (Tron Blockchain) पर बनाया गया है।

आज के समय में सभी को क्रिप्टोकरेंसी से वर्चित होना चाहिए क्योकि क्रिप्टोकरेंसी हमारा फ्यूचर मनी (Future Money) है आज नहीं तो कल ये हमारी जिंदगी का एक महत्वपूर्ण (Important) हिसा जरूर बन जाएगा और तकनीक (Technology) भी तेज गति से आगे बढ़ रही है और आने वाले समय में ये और भी ज्यादा फास्ट (Fast) और उपयोगी (Useful) होने वाला है।

Bitcoin क्या है, बिटकॉइन की कीमत, यह कैसे काम करता है जानें यहां पर

Bitcoin kya Hai: साल 2009 में, एक गुमनाम डेवलपर ने खुद को सातोशी नाकामोटो के रूप में पेश किया और बिटकॉइन के विचार का सुझाव दिया। जबकि नाकामोटो ने 2010 में इस परियोजना को छोड़ Bitcoin का आविष्कार किसने किया था दिया, उसके बाद यह समूह तेजी से बढ़ा। बिटकॉइन के मालिक उत्पादों को बेचने और खरीदने के साथ-साथ अन्य भौतिक मुद्राओं के लिए बिटकॉइन को स्वैप करने के लिए विभिन्न वेबसाइटों का उपयोग करते हैं। आगे आपको बताएंगे बिटकॉइन क्या है, इसकी कीमत क्या है और कैसे तय होती है साथ ही बताएंगे यह कैसे काम करता है?

बिटकॉइन क्या है बिटकॉइन का मतलब (What is Bitcoin? Bitcoin Meaning?)

बिटकॉइन एक Virtual Currency (भौतिक मुद्रा) है। जो की रुपए और डॉलर की तरह ही है लेकिन यह इनसे बिल्कुल ही अलग है क्योंकि बिटकॉइन को ना तो पैसे की तरह छू सकते हैं और ना ही देख सकते हैं बिटकॉइन का आविष्कार सतोशी नाकामोटो (Satoshi Nakamoto) ने 2009 में किया था। Bitcoin एक Cryptocurrency है। 1 बिटकॉइन के कीमत लाखों रुपए होती है। यह एक Decentralized Currency है, जिसका मतलब यह है की इसे कंट्रोल करने के लिए कोई भी बैंक या अथॉरिटी या सरकार नहीं है यानि के इसका कोई मालिक नहीं है।

बिटकॉइन की कीमत (Bitcoin Price Today)

आज 1 बिटकॉइन की कीमत 28,23,404.94 रुपए है। तो वहीं अन्य Cryptocurrency जैसे कि Ethereum(ETH) की कीमत 1,95,563 रुपए है और Tether(USDT) की कीमत 73.40 रुपए है। आपको बात दें की इन सभी मुद्राओं की कीमत हर रोज बदलती है। इसका पूरा कारोबार ऑनलाइन यानि की इंटरनेट पर होता है।

Bitcoin क्या है, बिटकॉइन की कीमत, यह कैसे काम करता है जानें यहां पर 1

Bitcoin

बिटकॉइन कैसे काम करती है? (How Does Bitcoin Work?)

पीयर-टू-पीयर तकनीक के कारण बिटकॉइन बिना किसी अथॉरिटी या बैंकों के बिना संचालित होता है। इसमे डिजिटल माध्यम से पेमेंट का मैसेज भेजना पड़ता है, जिसे दुनियभार में फैले विकेंद्रीकृत नेटवर्क के जरिए सत्यापित किया जाता है। बिटकॉइन ओपन-सोर्स है, जिसका अर्थ है कि इसका स्वामित्व किसी Bitcoin का आविष्कार किसने किया था के पास नहीं है या इसका प्रबंधन नहीं करता है, और कोई भी भाग ले सकता है।

बिटकॉइन के कई अनूठे गुण इसे उन तरीकों से उपयोग करने की अनुमति देते हैं जो कोई अन्य भुगतान तंत्र नहीं कर पाया है।

बिटकॉइन वॉलेट क्या है? (What is Bitcoin Wallet?)

एक बिटकॉइन वॉलेट में दो चाबियां होती हैं: एक सार्वजनिक कुंजी और एक निजी कुंजी। ये चाबियां एक साथ काम करती हैं ताकि मालिक को लेनदेन शुरू करने और डिजिटल रूप से हस्ताक्षर करने की अनुमति मिल सके, जिससे authorization साबित हो सके।

भारत में बिटकॉइन कैसे निवेश करें? (How To Invest Bitcoins in India?)

आप क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज के साथ खाता खोलकर, फंड ट्रांसफर करके और उस पूंजी से बिटकॉइन खरीदकर बिटकॉइन में निवेश शुरू कर सकते हैं। बता दें की कई क्रिप्टो एक्सचेंज यह सेवाएं प्रदान कर रहे हैं।

आइए हम वज़ीरएक्स (WazirX) एक्सचेंज पर विचार करें, जिसमें एक त्वरित और आसान खाता खोलने की प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है, यह वेबसाइट उपयोग और लेनदेन में काफी आसान है, जिससे खाता खोलना और बिटकॉइन खरीदना आसान हो जाता है। वज़ीरएक्स की दुनिया के सबसे बड़े क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज, बिनेंस के साथ भी साझेदारी है।

चरण 1: WazirX पर साइन अप करें
चरण 2: विवरण दर्ज करें
चरण 3: ईमेल सत्यापन और खाता सुरक्षा सेटअप
चरण 4: देश का चयन करें और खाता चुनें
चरण 5: अपने खाते से पैसे ट्रांसफर करें
चरण 6: एक्सचेंज पर बिटकॉइन खरीदें और स्टोर करें प्रत्येक क्रिप्टोकरेंसी का अपना unique address है जिसका उपयोग केवल उस क्रिप्टोकरेंसी को प्राप्त करने के लिए किया जा सकता है।

इसके अलावा आप Unocoin और Zebpay पर भी बिटकॉइन खरीद सकते हैं। हालाँकि, आप दूसरे एक्सचेंज वेबसाईट का भी उपयोग कर सकते हैं, ज्यादातर सभी मामलों में प्रक्रिया समान होगी।

निवेश करने से पहले बिटकॉइन के बारे में जानने योग्य बातें (Things to Know About Bitcoin Before Investing)

  1. बिटकॉइन श्वेत पत्र पढ़ें: एक श्वेतपत्र एक ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (DRHP) का एक डिजिटल संस्करण है जो प्रोजेक्ट के हर एक पहलू का विवरण देता है। श्वेतपत्र एक तकनीकी दस्तावेज है जिसे संभावित निवेशकों को पूरी जानकारी प्रदान करने के लिए प्रत्येक प्रोजेक्ट के अनुसार अपनी वेबसाइट पर पोस्ट करता है।

2. अस्थिरता को समझना: लंबे समय से, आलोचकों ने इस बात पर जोर दिया है कि क्रिप्टोकरेंसी कितनी अप्रत्याशित हैं। यह किसी भी अन्य निवेश की तुलना में अधिक जोखिम भरा है, इसलिए आपको पता होना चाहिए कि यह एक उच्च जोखिम के साथ भी आता है।

3. कोई शासन नहीं: वर्तमान में, बिटकॉइन क्षेत्र को नियंत्रित करने वाले कोई बड़े नियम नहीं हैं। सरकार ने क्रिप्टोकरेंसी पर कड़ा रुख नहीं अपनाया है क्योंकि यह अभी भी अपेक्षाकृत नवीन क्षेत्र है। हालांकि, अगर बिटकॉइन सरकारी मुद्रा के लिए एक प्रतियोगी बन जाता है, तो टैक्स की कमी की समस्या को पैदा कर सकती है।

लेटेस्ट खबरें पढ़ने के लिए आप हमारे चैनल को फेसबुक, ट्वीटर और इंस्‍टाग्राम पर फॉलो और लाइक करें।

बिटकॉइन क्या है ? What Is Bitcoin in Hindi

जो Bitcoin क बारे में नहीं जनत है उनके मन में कई प्रश्न आते Bitcoin का आविष्कार किसने किया था है जैसे की बिटकॉइन क्या है , कैसे काम करता है , इसको कहाँ रखा जाता है , आदि.

Bitcoin में निवेश करने से पहले आपको इसके बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए.

घर बैठे ही इन्टरनेट से पैसे कमाने के लिए आज कल बहुत सारे तरीके हैं. उन सभी तरीको में से एक तरीका है Bitcoin, जिसके वजह से हम बहुत पैसे कमा सकते हैं.

आज आप इसमें जानेंगे कि Bitcoin क्या है , बिटकॉइन का इतिहास , बिटकॉइन का इस्तेमाल क्यूँ किया जाता है ? बिटकॉइन वॉलेट क्या है ?

बिटकॉइन क्या होता है ? Bitcoin Meaning

जिस प्रकार Rupee, Dollar इत्यादि Currency होता है ठीक उसी तरह Bitcoin भी एक डिजिटल मुद्रा है.

Bitcoin अन्य Currencies से बिलकुल अलग है , यह केवल डिजिटल Currency है. Bitcoin को ना ही हम देख सकते हैं और ना ही उसे पैसों की तरह छू सकते हैं.

इसे हम सिर्फ Online Wallet में Store करके रख सकते हैं.

बिटकॉइन का इतिहास , Bitcoin History

Bitcoin का आविष्कार " Satoshi Nakamoto" ने 2009 में किया था.

उसके बाद से इसकी लोकप्रियता बढती जा रही है.

Bitcoin को Control करने के लिए कोई भी Bank या Authority या सरकार नहीं है.

यह एक Decentralized Currency है. कोई इसका मालिक नहीं है.

बिटकॉइन का इस्तेमाल क्यूँ किया जाता है ?

इसका इस्तेमाल Online किसी भी तरह का Transactions करने के लिए किया जाता है.

Bitcoin एक Peer To Peer Network आधारित है.

यानि बिना किसी Bank, Credit Card या Company के आसानी से Transactions किया जाता हैं.

यह Transactions के लिए सबसे तेज़ और कुशल माना जाता है.

Bitcoin को Online Developers, Entrepreneurs, Non-Profit Organisations इत्यादि इस्तेमाल करते है.

आज Bitcoin का इसतेमाल पूरी दुनिया में Global Payment के लिए किया जा रहा है.

Bitcoin का कोई भी मालिक ना होने के कारन इससे किये गए Transactions एक Public Ledger( खाते) में Record होकर रहता हैं जिसे Bitcoin “Blockchain” कहते हैं.

बिटकॉइन वॉलेट क्या है ?

Bitcoin Currency को Electronically Store करके रखने , खरीदने , बेचने के लिए बिटकॉइन वॉलेट की जरुरत होती है.

Bitcoin Wallets के कई प्रकार जैसे Desktop Wallet, Mobile Wallet, Online Web-Based Wallet होते हैं.

इनमें से किसी एक Wallet का इस्तेमाल करने पर Address के रूप में Unique Id प्रदान करती है.

Bitcoin बेचने के बदले जितने भी पैसे मिलते हैं उसे अपने Bank Account में भी Transfer किया जाता हैं.

तो यह था जानकरी Bitcoin के बारे में , जिसमे आपने जाना की Bitcoin क्या है , बिटकॉइन का इतिहास , बिटकॉइन का इस्तेमाल क्यूँ किया जाता है ? बिटकॉइन वॉलेट क्या है ? आदि.

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे शेयर करना ना भूले.

शेयर करने के लिए इसके निचे सोशल मीडियल Icon दिया गया है , उसपर क्लिक करे.

रेटिंग: 4.49
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 669