स्टॉक में निवेश करने वाले निवेशकों को ये पता होता है कि उसे कब शेयर खरीदना और बेचना है. आम तौर पर 20 से 30 फीसदी के लाभ पर शेयर होल्डर्स अपने शेयर को बेच देते हैं, लेकिन मंदी के दौर में निवेशकों को इसे लेकर बहुत ही सावधानी बरतने की जरूरत होती है. क्योंकि कई बार लोग सोचते हैं कि मंदी के समय में सस्ते शेयर लेकर इन्हें बाद में प्रॉफिट के साथ बेच देंगे. तो ये सोच कभी-कभी निवेशक के लिए बहुत ही नुकसानदायक साबित हो सकती है.

MoneyControl News

Sovereign Gold Bond: क्या आपको इस गोल्ड स्कीम में निवेश करना चाहिए?

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (SGB) स्कीम निवेश के लिए 22 अगस्त (सोमवार) को खुल गई है। यह इस फाइनेंशियल ईयर (2022-23) का एसजीबी का दूसरा इश्यू है। इंटरनेशनल मार्केट में गोल्ड की कीमतों में गिरावट आई है। इसके बावजूद गोल्ड में निवेश की अहमियत कम नहीं हुई है। विकसित देशों में मंदी का आशंका, हाई इनफ्लेशन और इंटरेस्ट रेट में वृद्धि को देखते हुए सोने में निवेश का महत्व बढ़ गया है।

26 अगस्त तक किया जा सकता है निवेश

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में 26 अगस्त (शुक्रवार) तक निवेश किया जा सकता है। इनवेस्टर्स को बॉन्ड 30 अगस्त को जारी कर दिए जाएंगे। ये बॉन्ड 8 साल में मैच्योर होंगे। पांच साल के बाद इनवेस्टर के पास इंटरेस्ट पेमेंट की तारीख पर इसे सरेंडर करने का ऑप्शन होगा।

संबंधित खबरें

FD Rates: कोटक बैंक एक हफ्ते में ही दूसरी बार बढाया एफडी पर ब्याज, दे रहा है 7.25% इटरेस्ट

जियो का तगड़ा प्लान! सिर्फ 5 रुपये में फ्री कॉलिंग, SMS और 24GB डेटा के साथ इतने दिन की वैलिडिटी

FD Rate: SBI के बाद देश के सबसे बड़े प्राइवेट सेक्टर बैंक HDFC ने दी खुशखबरी! Fixed Deposit पर बढ़ाया ब्याज

हर बॉन्ड का मूल्य एक ग्राम सोने के बराबर

हर बॉन्ड एक ग्राम गोल्ड के प्राइस को ट्रैक करेगा। क्या आपको भी निवेश करना चाहिए इनवेस्टर को ये बॉन्ड 5,197 रुपये की दर से जारी किए जाएंगे। डिजिटल तरीके से पेमेंट करने पर प्रति ग्राम 50 रुपये का डिस्काउंट मिलेगा। इस बॉन्ड पर सालाना 2.5 फीसदी इंटरेस्ट मिलेगा। इंटरेस्ट का पेमेंट हर छह महीने पर होगा।

gold prices

भई वाह! ₹7,20,000 का निवेश और ₹70,59,828 का रिटर्न? इससे बेहतर प्‍लान और क्‍या होगा..जानें पूरा कैलकुलेशन

अगर आप भी बेहतर निवेश वाली किसी स्‍कीम को खोज रहे हैं, तो क्या आपको भी निवेश करना चाहिए आपको SIP के जरिए म्‍यूचुअल फंड में निवेश करना चाहिए. SIP को सिर्फ 500 रुपए से भी शुरू किया जा सकता है. यहां जानिए मामूली निवेश से इसके जरिए कैसे आप लाखों का फंड जोड़ सकते हैं.

आज के समय में ज्‍यादातर लोग प्राइवेट जॉब करते हैं, ऐसे में बुढ़ापे पर उनके पास पेंशन का ऑप्‍शन नहीं होता. लिहाजा समझदारी इसी में है कि हम अपनी जॉब के साथ ही ऐसी स्‍कीम्‍स में निवेश करना शुरू कर दें, जहां से बेहतर रिटर्न मिले और ओल्‍ड एज में पैसों की कमी से न जूझना पड़े. अगर आप भी बेहतर निवेश वाली किसी स्‍कीम को खोज रहे हैं, तो आपको SIP के जरिए म्‍यूचुअल फंड (Mutual Fund) में निवेश करना चाहिए. SIP को सिर्फ क्या आपको भी निवेश करना चाहिए 500 रुपए से भी शुरू किया जा सकता है. अगर आप इसमें हर महीने 2000 रुपए भी इन्‍वेस्‍ट करते हैं तो आप कुछ सालों में 70 लाख से भी ज्‍यादा की पूंजी तैयार कर सकते हैं. यहां जानिए कैसे?

SIP में 2000 का मासिक निवेश

अगर आपकी नौकरी 22 साल की उम्र पर लग जाती है और आपकी शुरुआती सैलरी 15000 रुपए है, तो आप कम से कम 2000 रुपए तो निवेश के नाम पर आसानी से निकाल ही सकते हैं. अगर आप 22 साल की उम्र से हर महीने 2000 रुपए क्या आपको भी निवेश करना चाहिए की एसआईपी शुरू करते हैं और इसे लगातार 30 सालों तक जारी रखते हैं तो आप सालाना 24000 रुपए का निवेश करेंगे. इस तरह 30 सालों में आप कुल ₹7,20,000 रुपए का निवेश करेंगे. इस दौरान आपको कंपाउंडिंग का भी फायदा मिलेगा. SIP कैलकुलेटर के हिसाब से देखें तो अगर 30 सालों में आपको SIP में औसतन 12 फीसदी के हिसाब से भी रिटर्न मिलता है तो आपको ₹63,39,828 रुपए का मुनाफा होगा और मैच्‍योरिटी पर आपको 7,20,000+7,20,000= 70,59,828 रुपए मिलेंगे.

22 साल की उम्र पर इन्‍वेस्‍टमेंट शुरू करने पर 30 साल बाद आपकी उम्र 52 साल होगी यानी 52 साल की उम्र में आप एसआईपी से ही 70 लाख रुपए से ज्‍यादा जोड़ लेंगे. वहीं अगर आप सैलरी बढ़ने के साथ एसआईपी में निवेश की राशि को भी समय-समय पर बढ़ाते रहेंगे, तो आप इसके जरिए बड़ी ही आसानी से करोड़पति भी बन सकते हैं.

Equity Market Investment : इक्विटी में निवेश पर चाहिए ज्यादा रिटर्न? अपनाएं ये 4 टिप्स

Equity Market Investment : इक्विटी में निवेश पर चाहिए ज्यादा रिटर्न? अपनाएं ये 4 टिप्स

छोटी कंपनियों के शेयर्स में ज्यादा निवेश से ज्यादा बेहतर होगा, बड़ी कंपनियों में कम निवेश करना.

Equity Investment : अगर आप शेयर मार्केट में निवेश करने के बारे में सोच रहे हैं तो हम आज आपको कुछ ऐसे जरूरी टिप्स बताने वाले हैं. इन्हें अपनाकर आप न सिर्फ अपने निवेश को सुरक्षित कर सकते हैं, बल्कि बेहतरीन रिटर्न भी क्या आपको भी निवेश करना चाहिए हासिल कर पाएंगे. आम तौर पर भारत में ज्यादातर लोग इक्विटी में निवेश करना पसंद करते हैं. क्योंकि इसमें कम निवेश पर भी बेहतरीन रिटर्न हासिल हो सकता है. हालांकि इसमें निवेश जोखिम बना रहता है. इसलिए इक्विटी में निवेश से पहले आपको इसके बारे में सभी जानकारी तो लेनी ही चाहिए, साथ ही आपको व्यवस्थित तरीके से निवेश करना चाहिए. ताकि आपके निवेश पर जोखिम कम से कम हो.

1. कभी भी इन्वेस्टमेंट टिप्स के पीछे न भागें

हमारे देश में शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने वाले 10 में से 9 व्यक्ति ऐसे हैं जिन्होंने किसी अन्य से मिली इन्वेस्टमेंट टिप्स को आधार बनाते हुए शेयर बाजार में निवेश शुरू किया है. ऐसे में सवाल उठता है कि शेयर मार्केट का जानकार या उसमें काम करने वाला व्यक्ति आप को ऐसी जानकारी या टिप्स क्यों देगा, जिससे उसकी जगह आप का फायदा होगा? उदाहरण के तौर पर हम देखेंगे कि कभी भी कोई सेफ (खाना बनाने वाला) अपनी रेसिपी का खुलासा नहीं करता है, तो फिर कोई आपको फायदा कराने वाली टिप्स की जानकारी क्यों देगा?. इसलिए किसी इन्वेस्टमेंट टिप्स के पीछे भागने क्या आपको भी निवेश करना चाहिए से बेहतर होगा कि आप निवेश से पहले स्कीम को लेकर थोड़ा रिसर्च जरूर करें, ताकि आप की मेहनत की कमाई बेकार न हो जाए.

Insurance on Education Loan: एजुकेशन लोन का इंश्योरेंस क्यों है जरूरी, किन हालात में मिल सकता है इसका फायदा

2. फंडामेंटल एनालिसिस

जहां तक रिसर्च की बात है तो हर व्यक्ति को न तो रिसर्च की तकनीक का ज्ञान है और न ही उसमें इतनी समझ है कि वो खुद से इन्वेस्टमेंट से जुड़े टेक्निकल वर्ड को सही मायनों में समझ सके. हालांकि वो पढ़ जरूर सकता है. वैश्विक स्तर पर बात की जाए तो इन्वेस्टमेंट सेक्टर में हमेशा वॉरेन बफे और चार्ली मुंगेर की मिसाल दी जाती है, जिन्होंने निवेश से पहले अच्छी तरह से रिसर्च किया और क्या आपको भी निवेश करना चाहिए प्लान तरीके से निवेश किया. अपनी इसी रिसर्च और प्लान निवेश के दम पर इंटरनेशनल मार्केट में दोनों ने अपनी खास पहचान बनाई है.

क्या आप जाने हैं कि एक ही स्टॉक या सेक्टर में निवेश करना आप के लिए बड़ा जोखिमभरा साबित हो सकता है. इसलिए आप को निवेश करते समय यह ध्यान रखना चाहिए कि आप अलग-अलग सेक्टर की कंपनियों में थोड़ा-थोड़ा निवेश करें, ताकि अगर एक सेक्टर या एक स्टॉक में कोई दिक्कत आती है तो आप की सारी रकम एक साथ न डूब जाएये. यही वजह है कि निवेशकों को अपने निवेश पोर्टपोलियों में विविधता लाने की सलाह दी जाती है.

Mutual Fund: 12 साल में 12% ब्याज पर रिटायरमेंट के लिए, 5 करोड़ रुपये; क्या आपको निवेश करना चाहिए?

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। म्यूचुअल फंड कैलकुलेटर दिखाता है कि म्यूचुअल फंड निवेश में चक्रवृद्धि की शक्ति धीरे-धीरे अपना असर दिखाना शुरू कर देती है लेकिन समय बीतने के साथ यह सुपर स्पीड हासिल करता है, आश्चर्यजनक त्वरित समय में आपके धन को गुणा करता है। हालांकि कुछ जोखिम और सैकड़ों म्यूचुअल फंड निवेश विकल्प हैं, यदि आप एक विजेता फंड की पहचान करने का प्रबंधन करते हैं तो आप सभी वित्तीय लक्ष्यों तक तेजी से पहुंच सकते हैं। यह स्वयं के शोध और पेशेवर सलाह की मदद से संभव है।

अब मान लीजिए आपने पहले से ही एक अच्छे फंड की पहचान कर ली है जो 12% वार्षिक रिटर्न दे सकता है और आप सेवानिवृत्ति के लिए करोड़ों रुपये जमा करना चाहते हैं। इस सेवानिवृत्ति लक्ष्य तक पहुंचने में कितना समय लगेगा?

Investment Tips : नहीं रखा पोर्टफोलियो का खास ख्याल तो छू-मंतर हो जाएगा मुनाफा, कभी ना भूलें ये 5 बातें

Investment Tips

Investment Tips : निवेशक हमेशा ध्यान रखें ये बातें

  • निवेशक को समय-समय पर मुनाफा निकालते रहना चाहिए
  • निवेश करते समय टैक्स देनदारी का ध्यान रखना भी जरूरी
  • पोर्टफोलियो में लिक्विडिटी का जरूर रखें ध्यान

2. लिक्विडिटी का ध्यान रखें
किसी इन्वेस्टमेंट पोर्टफोलियो में लिक्विडिटी (Liquidity) पर विशेष रूप से ध्यान दिया जाना चाहिए। निवेशक रिटर्न और सेफ्टी को लेकर काफी जागरुक रहते हैं, लेकिन लिक्विडिटी को भूल जाते हैं। किसी भी समय आपके पोर्टफोलियो में पर्याप्त लिक्विडिटी होनी चाहिए। आप नहीं जानते कि कब कोई फाइनेंशियल इमरजेंसी आप पर आ जाए। महामारी का समय हमें याद दिलाता है कि हमारे पास हमेशा पर्याप्त लिक्विडिटी होनी चाहिए। अर्थात आपके पास हमेशा कुछ राशि ऐसी जगह हो, जहां से आप उसे कभी भी बिना कोई नुकसान उठाए निकाल सकें।

रेटिंग: 4.55
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 470