सबसे खास बात यह है कि खरीदारी के ये सभी प्लेटफॉर्म चौबीसों घंटे खुले रहते हैं। क्रिप्टोकरेंसी को खरीदने और बेचने की प्रक्रिया भी काफी आसान है। आपको केवल इन प्लेटफॉर्म्स पर साइन अप करना होगा। इसके बाद अपना KYC प्रोसेस पूरा कर वॉलेट में मनी ट्रांसफर करना होगा। इसके बाद आप खरीदारी कर पाएंगे।

बिटक्वाइन सिटी

बिटकॉइन पर बिल गेट्स की सलाह, बोले- एलन मस्क से कम पैसा है तो नहीं खरीदें बिटकॉइन

By: एबीपी न्यूज़ | Updated at : 27 Feb 2021 03:03 PM (IST)

बिटकॉइन की आजकल हर तरफ चर्चा हो रही है. अब माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स ने इसके बारे में एक एक दिलचस्प बात कही है. उन्होंने बताया है कि बिटकॉइन किस व्यक्ति को खरीदना चाहिए. दुनिया के तीसरे सबसे अमीर आदमी गेट्स ने कहा कि बिटकॉइन मेरे लिए नहीं हैं क्योंकि मेरे पास टेस्ला के सीईओ एलन मस्क से कम पैसा है. यानि जिसके पास बिटकॉइन कहां खर्च करें मस्क से कम पैसा है, उसे बिटकॉइन में निवेश नहीं करना चाहिए. मस्क बिटकॉइन को लेकर मुखर रहे हैं और उनकी कंपनी टेस्ला ने हाल ही में इस क्रिप्टोकरेंसी में 1.5 अरब डॉलर का निवेश किया है.

एलन से कम पैसेवाले नहीं खरीदें बिटकॉइन ब्लूमबर्ग टीवी के साथ बातचीत में गेट्स ने कहा कि बिटकॉइन हर किसी के लिए नहीं है और केवल दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति को इसमें निवेश करने पर विचार करना चाहिए. उन्होंने कहा कि "एलन के पास काफी पैसा हैं और वह बहुत ही विवेकी है, इसलिए मुझे चिंता नहीं है कि उसका बिटकॉइन बेतरतीब ढंग से ऊपर या नीचे जाएगा. मुझे लगता है कि लोग इसे उत्साह में खरीदते हैं जिनके पास अतिरिक्त पैसे नहीं हैं. मेरा सामान्य विचार है कि अगर आपके पास एलन से कम पैसा है, तो आपको शायद इसे रुककर देखना चाहिए."

Investment in Crypto Currencies: BitCoin में निवेश का स्टेपवाइज प्रॉसेस, इन तीन चार्जेज के बारे में भी जानकारी है जरूरी

Investment in Crypto Currencies: BitCoin में निवेश का स्टेपवाइज प्रॉसेस, इन तीन चार्जेज के बारे में भी जानकारी है जरूरी

दुनिया भर में निवेशकों के बीच बिटक्वाइन (BitCoin) जैसी क्रिप्टो करेंसी में निवेश को लेकर आकर्षण बढ़ रहा है.

Investing in बिटकॉइन कहां खर्च करें Crypto Currencies: भारत समेत दुनिया भर में निवेशकों के बीच बिटक्वाइन (BitCoin) जैसी क्रिप्टो करेंसी में निवेश को लेकर आकर्षण बढ़ रहा है. पिछले कुछ वर्षों में इसने निवेशकों को शानदार रिटर्न दिया है. क्रिप्टोकरेंसी एक प्रकार की वर्चुअल करेंसी है जिसे कंप्यूटर पर जटिल समीकरणों को हल कर माइन किया जाता है. इसे माइन करने वाले यानी माइनर्स को रिवार्ड के तौर पर क्रिप्टो करेंसी मिलती है लेकिन जिन्हें तकनीकी समझ नहीं है, वे भी क्रिप्टो हासिल कर सकते हैं. जिस प्रकार कंपनी के शेयरों की बीएसई और एनएसई जैसे एक्सचेंजों पर खरीद-बिक्री होती है, वैसे ही क्रिप्टो एक्सचेंजों पर बिटक्वाइन जैसे क्रिप्टो की खरीद-बिक्री होती है यानी कि आपको अगर बिटक्वाइन में निवेश करना है तो किसी एक्सचेंज पर जाकर आसानी से इसमें पैसे लगा सकते हैं.

इस प्रकार कर सकते हैं क्रिप्टो में निवेश

क्रिप्टों में निवेश के लिए वजीरएक्स (WazirX), क्वाइनडेक्स (Coindex), जेबपे Zebpay, क्वाइनस्विच कुबेर (Coin Switch Kuber) और यूनोकॉइन UnoCoin जैसे एक्सचेंज हैं. क्रिप्टो में निवेश के लिए पहले आपको एक्सचेंज की साइट पर जाकर पर्सनल डिटेल्स के जरिए रजिस्ट्रेशन करना होगा.

Nifty के लिए 18665 का लेवल अहम, टूटा तो 18888 तक पहुंचेगा बाजार, US Fed पॉलिसी और महंगाई पर रहेगी नजर

Stock Market: IT शेयरों ने तोड़ा बाजार, सेंसेक्‍स 389 अंक टूटकर बंद, निफ्टी 18497 पर, टॉप लूजर्स में HCL-Infosys

क्रिप्टो बिटकॉइन कहां खर्च करें ट्रेडिंग पर ये हैं चार्जेज

  • एक्सचेंज फीस: क्रिप्टो खरीद या बिक्री ऑर्डर को पूरा करने के लिए एक्सचेंज फीस चुकानी होती है. भारत में अधिकतर क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज का फिक्स्ड फीस मॉडल है, लेकिन ट्रांजैक्शन की फाइनल कॉस्ट उस प्लेटफॉर्म पर निर्भर होती है जिस पर ट्रांजैक्शन पूरा हुआ है. ऐसे में इसे लेकर बेहतर रिसर्च करनी चाहिए कि कौन सा क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज सबसे कम ट्रांजैक्शन फीस ले रहा है. फिक्स्ड फीस मॉडल के अलावा क्रिप्टो एक्सचेंज में मेकर-टेकर फी मॉडल भी है. क्रिप्टो करेंसी बेचने वाले को मेकर कहते हैं और इसे खरीदने वाले को टेकर कहते हैं. इस मॉडल के तहत ट्रेडिंग एक्टिविटी के हिसाब से फीस चुकानी होती है.
  • नेटवर्क फीस: क्रिप्टोकरेंसी माइन करने वालों को नेटवर्क फीस चुकाई जाती है. ये माइनर्स शक्तिशाली कंप्यूटर्स के जरिए किसी ट्रांजैक्शन को वेरिफाई और वैलिडेट करते हैं और ब्लॉकचेन में जोड़ते हैं. एक्सचेंज का नेटवर्क फीस पर सीधा नियंत्रण नहीं होता है. अगर नेटवर्क पर भीड़ बढ़ती है यानी अधिक ट्रांजैक्शन को वेरिफाई और वैलिडेट करना होता है तो फीस बढ़ जाती है. आमतौर पर यूजर्स को थर्ड पार्टी वॉलेट का प्रयोग करते समय ट्रांजैक्शन फीस को पहले से ही सेट करने की छूट होती है. लेकिन एक्सचेंज पर इसे ऑटोमैटिक एक्सचेंज द्वारा ही सेट किया जाता है ताकि ट्रांसफर में कोई देरी न हो. जो यूजर्स अधिक फीस चुकाने के लिए तैयार हैं, उनका ट्रांजैक्शन जल्द पूरा हो जाता है और जिन्होंने फीस की लिमिट कम रखी है, उनके ट्रांजैक्शन पूरा होने में कुछ समय लग सकता है. माइनर्स को इलेक्ट्रिसिटी कॉस्ट और प्रोसेसिंग पॉवर के लिए यह फीस दी बिटकॉइन कहां खर्च करें जाती है.
  • वॉलेट फीस: क्रिप्टो करेंसी को ऑनलाइन बैंक खाते के समान एक डिजिटल वॉलेट में रखा जाता है. अधिकतर वॉलेट में क्रिप्टो करेंसी के डिपॉजिट और स्टोरेज पर कोई फीस नहीं ली जाती है, लेकिन इसे निकालने या कहीं भेजने पर फीस चुकानी होती है. यह मूल बिटकॉइन कहां खर्च करें रूप से नेटवर्क फीस है. अधिकतर एक्सचेंज इन-बिल्ट वॉलेट की सुविधा देते हैं. क्रिप्टो वॉलेट्स सिस्टमैटिक क्रिप्टो करेंसी खरीदने का विकल्प देते हैं और इसके इंटीग्रेटेड मर्चेंट गेटवे के जरिए स्मार्टफोन व डीटीएस सर्विसेज को रिचार्ज कराया जा सकता है.

नए साल में तबाह हो जाएगा बिटकॉइन! इस बड़े बैंक बिटकॉइन कहां खर्च करें ने दी चेतावनी

नई दिल्ली: दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) के लिए नया साल और भी ज्यादा बुरा हो सकता है. दुनिया के बड़े बैंकों में से एक स्टैंडर्ड चार्टर्ड (Standard Chartered) ने अनुमान लगाया है कि नए साल में बिटकॉइन निवेशकों (Bitcoin Investors) के आंसू और ज्यादा बिटकॉइन कहां खर्च करें बहा सकता है और इसकी कीमत में 70 फीसदी की गिरावट देखने को मिल सकती है. बैंक ने कहा कि साल 2023 में बिटकॉइन की कीमत (Bitcoin Price) 5 हजार डॉलर के पास आ सकते हैं जो कि मौजूदा समय 17,500 डॉलर के करीब कारोबार कर रहा है.

कितने बिटकॉइन कहां खर्च करें बिटकॉइन कहां खर्च करें हो सकते हैं बिटकॉइन के दाम
बैंक के ग्लोबल हेड ऑफ रिसर्च एरिक रॉबर्टसन ने रविवार को एक नोट में लिखा है कि अगले साल लगभग 70 फीसदी यानी कीमत 5 हजार डॉलर तक देखने को मिल सकती है. रॉबर्टसन ने यह भी कहा कि मांग गोल्ड के डिजिटल वर्जन में निवेशकों के शिफ्टी ​होने के कारण बिटकॉइन की कीमतों में भारी गिरावट आने की संभावना है. जबकि सोने के दाम में 30 फीसदी का इजाफा देखने को मिल सकता है. रॉबर्टसन ने कहा बिटकॉइन कहां खर्च करें कि बिटकॉइन की कीमत में गिरावट की असल वजह इकोनॉमी में उथल—पुथल डिजिटल असेट्स में निवेशकों के विश्वास में कमी है. उन्होंने जोर देकर कहा कि वह भविष्यवाणियां नहीं कर रहे है, बल्कि उन सिनेरियो पर विचार कर रहे हैं जो भौतिक रूप से मौजूदा बाजार सहमति से बाहर हैं.

यह भी पढ़ें | शिवराज सरकार ने हुक्का बार पर प्रतिबंध लगाने के लिए बनाया ये बड़ा प्लान

क्रिप्टो मार्केट में अब जबरदस्ती की सेल खत्म
सैम बैंकमैन-फ्राइड के एफटीएक्स एक्सचेंज और सिस्टर ट्रेडिंग हाउस अल्मेडा रिसर्च के पतन के बाद डिजिटल असेट्स के लिए आगे क्या है, इस सवाल का जवाब देना यकीनन कभी कठिन नहीं रहा. इस धमाके की वजह से क्रिप्टो कंपनियों और बुफे टोकन की कीमतों में गिरावट का खतरा है. फंडस्ट्रैट में डिजिटल एसेट स्ट्रैटेजी के प्रमुख सीन फैरेल ने शुक्रवार को एक नोट में लिखा कि क्रिप्टो मार्केट में अब जबरदस्ती की सेल खत्म हो चुकी है. फैरेल ने डिजिटल करेंसी ग्रुप, संकट में घिरी हुई क्रिप्टो ब्रोकरेज जेनेसिस की मूल कंपनी के आसपास चल रही अनिश्चितता की ओर इशारा किया. ब्रोकरेज को दिवालिया होने से बचाने के लिए जेनेसिस के लेनदार विकल्प तलाश रहे हैं.

गोल्ड को मिल सकता है फायदा
स्टैंडर्ड चार्टर्ड के रॉबर्टसन ने कहा कि क्रिप्टो करेंसी मार्केट में गिरावट का फायदा गोल्ड की कीमत को मिल सकता है. उन्होंने कहा कि अगले सालद सोने की कीमत 2,250 डॉलर प्रति औंस देखने को मिल सकती है, जोकि मौजूदा समय में 1850 डॉलर प्रति ओंस से कम है. बीते कुछ दिनों में सोने की कीमत में अच्छी तेजी देखने को मिल रही है.

Cryptocurrency में निवेश का बना लिया है मन तो Crypto 101 के बारे में जान लें सबकुछ, वरना हो सकती है दिक्कत!

Cryptocurrency में निवेश का बना लिया है मन तो Crypto 101 के बारे में जान लें सबकुछ, वरना हो सकती है दिक्कत!

क्रिप्टोकरेंसी के लिए फिलहाल भारत में कोई कानून नहीं है।

महब कुरैशी. क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने वाले बिटकॉइन कहां खर्च करें लोगों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। जिसकी सबसे बड़ी वजह है कि, इसमें शेयर बाजार के विपरीत तेजी से उतार-चढ़ाव देखने को मिलता है। ऐसे में बहुत से लोगों ने क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करके बड़ा लाभ कमाया है। वहीं जिन लोगों ने अभी तक इसमें कभी निवेश नहीं किया है। अब वह भी बिटकॉइन, डॉगकोइन और एथेरियम जैसी क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करना चाहते हैं। आपको बता दें क्रिप्टोकरेंसी की शुरुआत हुए अभी केवल 10 साल ही पूरे हुए है। लेकिन इसके बावजूद इसमें लोगों की रूचि दिन दूनी रात चौगनी बढ़ रही है। ऐसे में अगर आप भी बिटकॉइन कहां खर्च करें क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने की सोच रहे हैं। तो आपको इस खबर को पूरा पढ़ना चाहिए। क्योंकि इसके बिना आपको तकड़ा नुकसान हो सकता है।

विस्तार

क्रिप्टोकरेंसी की लोकप्रियता दुनियाभर में तेजी से बढ़ती जा रही है। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि मध्य अमेरिका के छोटे देश अल साल्वाडोर में अब दुनिया की पहली बिटक्वाइन शहर बनाने की तैयारी कर ली है। अल साल्वाडोर के राष्ट्रपति नायिब बुकेले ने अपने देश की अर्थव्यवस्था में निवेश को बढ़ाने के लिए क्रिप्टो करेंसी पर बड़ा दांव लगाने का ऐलान किया है।

ईस्टर्न रीजन में की जाएगी स्थापित
राष्ट्रपति बुकेले ने कहा है कि यह शहर ला यूनियन के ईस्टर्न रीजन में बनाया जाएगा और इसे ज्वालामुखी के जरिए जियोथर्मल पॉवर दिया जाएगा। इसके अलावा इस पर वैट (वैल्यू एडेड टैक्स) के अलावा अन्य कोई टैक्स नहीं लगाया जाएगा. बुकेले ने अपने संबोधन में निवशेकों के लिए कहा कि यहां निवेश करिए और भरपूर रिटर्न हासिल करिए। इस श्हर को बिटक्वाइन पर आधारित बॉन्ड के जरिए फंड किया जाएगा।

रेटिंग: 4.93
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 528