नई दिल्ली : भारतीय शेयर बाजार (Indian Stock Markets) आज मंगलवार को बंद रहेंगे। आज गुरुनानक जयंती (Guru Nanak Jayanti) होने के चलते शेयर बाजार बंद हैं। यह कैलेंडर वर्ष 2022 की आखिरी ट्रेडिंग छुट्टी (Trading Holiday) है। इस साल शेयर बाजार में कुल 13 ट्रेडिग हॉलिडे रही हैं। कमोडिटी मार्केट्स (Commodity Markets) की बात करें, तो ये सुबह बंद रहेंगे। हालांकि, शाम के सत्रों में कमोडिटी बाजार खुले रहेंगे। उधर करेंसी मार्केट (Currency Market) आज पूरी तरह बंद रहेगा। सोमवार के सत्र में निफ्टी और सेंसेक्स दोनों ही बढ़त के साथ बंद हुए थे। सोमवार को लगातार दूसरे सत्र में बाजार में तेजी रही। सोमवार को बीएसई सेंसेक्स करीब 235 अंक चढ़कर एक बार फिर 61,000 अंक के स्तर को पार कर गया था।

बैंकिंग, ऑटो और मेटल शेयरों में अच्छी लिवाली

वैश्विक बाजारों में मजबूत रुख के बीच बैंकिंग, ऑटो और मेटल शेयरों में अच्छी लिवाली से बाजार में तेजी रही। कारोबारियों के अनुसार, अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये में मजबूती और विदेशी पूंजी प्रवाह जारी रहने से भी घरेलू बाजारों को सपोर्ट मिला। भारी उतार-चढ़ाव के बीच तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 234.79 अंक यानी 0.39 फीसदी की बढ़त के साथ 61,185.15 अंक पर बंद हुआ था। वहीं, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 85.65 अंक यानी 0.47 फीसदी की बढ़त के साथ 18,202.80 अंक पर बंद हुआ था।

एसबीआई के शेयर में बढ़िया उछाल

सोमवार को सेंसेक्स के शेयरों में भारतीय स्टेट बैंक सबसे अधिक 3.44 प्रतिशत चढ़ा। एसबीआई के शानदार रिजल्ट के चलते ऐसा हुआ। बैंक ने शनिवार को बताया था कि कर्ज और ब्याज आय में मजबूती से उसका शुद्ध लाभ सितंबर तिमाही में सालाना आधार पर 74 फीसदी बढ़ा। इस दौरान बैंक को किसी तिमाही में अब तक का सबसे अधिक कमोडिटी ट्रेडिंग क्या है लाभ हुआ। इसके अलावा सोमवार को टाटा स्टील, अल्ट्राटेक सीमेंट, आईसीआईसीआई बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा, मारुति, पावरग्रिड और एचडीएफसी बैंक भी प्रमुख रूप से लाभ में रहे थे।
Inox Green IPO: आईनॉक्स ग्रीन एनर्जी सर्विसेज 11 नवंबर को लॉन्च करेगी आईपीओ, तय किया गया प्राइस बैंड, देखें डिटेल
अमेरिका के महंगाई के आंकड़े अहम

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘चीन में कोविड पाबंदियों के हटने की अफवाह और अमेरिका में रोजगार के मजबूत आंकड़ों से भी बाजार को समर्थन मिला है। हालांकि, निवेशकों को बाजार की दिशा के लिये अमेरिका में मुद्रास्फीति के आंकड़ों की प्रतीक्षा है। इसका कारण कंपनियों के तिमाही परिणामों के बाद घरेलू स्तर पर स्पष्ट रुख का अभाव है. ।’’

MCX पर ट्रेडिंग के समय में हुआ बदलाव, जान लीजिए पूरी डिटेल

यूएस डेलाइट सेविंग टाइमिंग्स को देखते हुए मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (MCX) पर ट्रेडिंग के समय में बदलाव हो गया है, अब नया समय सुबह 9 बजे से रात 11.30 बजे तक होगा

सोमवार से अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर रिफ्रेंशिएबिल नॉन एग्री कमोडिटीज और एग्री कमोडिटीज (कपास, सीपीआई और कपास) में ट्रेडिंग सुबह 9 बजे शुरू हो गई

MCX Trading Timings : मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (MCX) में ट्रेडिंग के समय में सोमवार से बदलाव हो गया। इसकी वजह यूएस डेलाइट सेविंग टाइमिंग्स है। नया समय सुबह 9 बजे से रात 11.30 बजे तक का है।

इस क्रम में, आज अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर रिफ्रेंशिएबिल नॉन एग्री कमोडिटीज और एग्री कमोडिटीज (कपास, सीपीआई और कपास) में ट्रेडिंग सुबह 9 बजे शुरू हो गई। हालांकि, नए टाइम जोन में नॉन एग्री कमोडिटीज (non-Agri commodities) में रात 11.30 बजे तक ट्रेडिंग हो सकेगी, वहीं एग्री कमोडिटीज (Agri commodities) में रात 9 बजे तक ही ट्रेडिंग होगी।

कमोडिटी(Commodity) मार्केट क्या है ? कमोडिटी ट्रेडिंग कैसे करें, जाने हिंदी में |

Commodity

Commodity market भी शेयर बाजार की तरह ही होता है , शेयर बाजार में शेयर खरीदें और बेचे जाते है वही कमोडिटी बाजार में कमोडिटी बेचे और ख़रीदी जाती है | जिस तरह शेयर बाजार में खरीदने या बेचने के लिए डीमेट खाता खुलवाना जरूरी होता है , उसी तरह कमोडिटी बाजार में कारोबार के लिए ट्रेडिंग खाते की आवश्यकता होती है |

कमोडिटी बाजार में ट्रेडिंग खाता खोलने के लिए आपके पास पैन कार्ड , एड्रेस प्रूफ और बैंक खाता होना जरूरी होता है | जब किसी ब्रोकर के पास ट्रेडिंग खाता खुलवाते है तो ब्रोकर एक अकाउंट की आईडी देता है | इस आईडी से कमोडिटी बाजार में व्यापार कर सकते है | कमोडिटी बाजार में निवेश करने से पहले ये जानना जरूरी है की कौनसे एक्सचेंज में किन-किन कमोडिटी का कारोबार होता है |

Table of Contents

Commodity Trading क्या है

किसी कमोडिटी को एक्सचेंज के माध्यम से खरीदने व बेचने के काम को कमोडिटी ट्रेडिंग कहते हैं | कमोडिटी ट्रेडिंग सामान्य ट्रेडिंग की तरह नही होती है , यहा पर की जाने वाली ट्रेडिंग भविष्य के लिए की जाती है | ट्रेड का दिन आने पर ट्रेडर ,ट्रेड काट सकता है या फिर वह चाहे तो उसकी डिलीवरी भी ले सकता है | कमोडिटी बाजार के माध्यम से एग्री प्रोडक्ट्स ( जैसे – गेहूं , ऑयल , कपास , सोयाबीन ) व नॉन-एग्री प्रोडक्ट्स ( बेस मेटल , सोना-चाँदी ) आदि का कारोबार करते है |

Commodity trading कैसे शुरू करें

Commodity बाजार में ट्रेडिंग शुरू करने के लिए हमारे पास ट्रेडिंग खाता होना कमोडिटी ट्रेडिंग क्या है चाहिए | ट्रेडिंग खाता उसी ब्रोकर के साथ खोलना चाहिए , जिनके पास प्रमुख कमोडिटी एक्सचेंजों जैसे एमसीएक्स ( MCX ) , एनसीडीईएक्स आदि की सदस्यता ले रखी हो | इन एक्सचेंजों की वेबसाइट पर इनसे जुड़े ब्रोकरों की सूची मिल जाएगी | भारत में कई कमोडिटी एक्सचेंज हैं , जिनके माध्यम से कमोडिटी का कारोबार होता है | इनमें एमसीएक्स ( MCX ) , एनसीडीईएक्स , एनएमसीई प्रमुक है |

Commodity बाजार में निवेश कैसे करें

  • Commodity market भी शेयर बाजार की तरह होता है कमोडिटी बाजार में शेयर की जगह कमोडिटी को खरीदा और बेचा जाता है |
  • कमोडिटी किसी भी रोजमर्रा की जिंदगी में काम आने वाले सामान को बोलते हैं जो लोगों की बुनियादी जरूरत होते हैं | जैसे की चना , गेहूं , सोना या चाँदी इत्यादि |
  • कमोडिटी बाजार में डिलीवरी होती है पर ज्यादातर लोग डिलीवरी न लेकर दुबारा से सामान को कमोडिटी बाजार में ही बेच देते हैं |
  • कमोडिटी बाजार में कच्चे माल की खरीद और बिक्री होती है |
  • कमोडिटी बाजार में सामान के पैसे वर्तमान स्थिति से लगते है , चाहे डिलीवरी कभी भी लो या न लो |
  • कमोडिटी बाजार में सामान की गुणवत्ता पर ध्यान नहीं दिया जाता है बस पैसे देखे जाते है |

Commodity बाजार के लिए टिप्स

कुछ भी खरीदने के लिए पूरी रकम देनी होती है , पर कमोडिटी ट्रेडिंग में कुछ पैसे देकर ट्रेडिंग की जा सकती है । कमोडिटी बाजार में इस को मार्जिन ट्रेडिंग कहा जाता है । ये मार्जिन किसी भी ट्रेडिंग का 3-5 प्रतिशत होता है ।

  • कमोडिटी बाजार में कुछ प्रतिशत मार्जिन देकर ट्रेडिंग कर सकते है , तो हमें ज्यादा ट्रेडिंग एक साथ नहीं करनी चाहिए ।
  • कमोडिटी बाजार में निवेश अपने बजट के हिसाब से करना चाहिए ।
  • शेयर बाजार में हम अपने निवेश को कुछ साल तक रख सकते है पर कमोडिटी बाजार में ट्रेडिंग 2-3 महीने में कारोबार होता है तो इसमें निवेश कम समय के लिए होता है ।
  • कमोडिटी बाजार में शुरुआत में थोड़े निवेश से ज्यादा फायदा हो सकता है । जब कमोडिटी बाजार को पूरी तरह से समझ जाएं तो ज्यादा पैसे निवेश कर सकते है ।
  • शेयर बाजार की तरह कमोडिटी बाजार में भी वैश्विक घटना से फर्क पड़ता है , ये समझ कर भी कमोडिटी बाजार में पैसे निवेश कर सकते है ।
  • लिक्विड कमोडिटी में ज्यादा फायदा रहता होता है । लिक्विड कमोडिटी जैसे की कच्चा तेल , आधार धातु इसमें नुकसान कम होता है और बाजार में बहार आने का मौका हमेशा खुला रहता है ।
  • शेयर बाजार की तरह कमोडिटी बाजार में बोनस या डिविडेंड नहीं मिलता है । जब भी कमोडिटी बेचते है , तभी फ़ायदा होता हैं ।
  • कमोडिटी बाजार में डिमांड-सप्लाई का भी ध्यान रखें ।

शेयर बाजार और कमोडिटी बाजार में अंतर

  • कमोडिटी बाजार में कमोडिटी और शेयर बाजार में शेयर खरीदे और बेचे जाते है ।
  • कमोडिटी बाजार और शेयर बाजार में ट्रेडिंग करने के लिए अलग-अलग डिमैट खाते की जरूरत होती है कमोडिटी ट्रेडिंग क्या है ।
  • शेयर बाजार में निवेश करने से पहले कंपनी के बारे में काफी रिसर्च करनी पड़ती है , कमोडिटी बाजार में कमोडिटी की ज्यादा रिसर्च नही करनी पड़ती है ।

By Suresh Kumar

Suresh Kumar, Intra Day Share के संस्थापक और Senior Editor हैं. इन्हें लोगों को नयी नयी इन्वेस्टमेंट की रिसर्च बेस्ड जानकारी पहुँचाने में बहुत ख़ुशी मिलती है. शेयर मार्केट से सम्बंधित सभी जानकारियां इनके द्वारा नियमित तौर पर इस वेबसाइट पर पब्लिश की जाती है | इन्हें मार्केट में कार्य करने का पिछले 6 वर्षों का अनुभव है और इसी अनुभव को इस वेबसाइट के माध्यम से आम जन तक पहुंचा रहें है |

कमोडिटी ट्रेडिंग क्या है

👉🏻किसान भाइयों आज का यह वीडियो बहुत ही महत्त्वपूर्ण विषय पर केंद्रित है जिसका नाम है कमोडिटी ट्रेडिंग। इस वीडियो में हम जानेंगें की कैसे किसान भाई कमोडिटी बाजार में ट्रेडिंग करके अपनी फसल के अच्छे दाम पाकर अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं। तो इसकी सम्पूर्ण जानकारी के लिए वीडियो को अंत तक देखें। स्रोत:- Chaotic Finance Hindi, प्रिय किसान भाइयों यदि वीडियो में दी गई जानकारी उपयोगी लगी, तो इसे लाइक👍करें एवं अपने अन्य किसान मित्रों के साथ शेयर करें धन्यवाद!

Diwali Muhurat Trading 2022: दिवाली के दिन एक घंटे के लिए खुलता है शेयर बाजार, जानें क्या है परंपरा?

Diwali Muhurat Trading 2022: शेयर बाजार में दिवाली के दिन एक घंटे के लिए मुहूर्त ट्रेडिंग की परंपरा पांच दशक पुरानी है। मुहूर्त ट्रेडिंग का चलन बीएसई में 1957 और एनएसई में 1992 में शुरू हुआ था। विशेषज्ञ बताते हैं कि मुहूर्त ट्रेडिंग पूरी तरह परंपरा से जुड़ी है।

Diwali Muhurat Trading 2022

दिवाली के दिन यूं तो शेयर बाजार बंद रहता है पर एक खास परंपरा के तहत यह एक घंटे के लिए खुलता है और शेयरों की खरीद-बिक्री भी होती है। इस दिन शेयर बाजार में खास ट्रेडिंग की परंपरा है, जिसे मुहूर्त ट्रेडिंग कहा जाता है। इस एक घंटे में निवेशक अपना छोटा निवेश करके बाजार की परंपरा को निभाते हैं। ऐसी मान्यता है कि इस दिन मुहूर्त ट्रेडिंग से समृद्धि आती है और पूरे साल निवेशकों पर धन बरसता है। दिवाली पर यह ट्रेडिंग इक्विटी, इक्विटी फ्यूचर एंड ऑप्शन, करेंसी एंड कमोडिटी मार्केट, तीनों में होती है। प्री-ओपन सेशन शाम के 6 बजे से 6.15 बजे तक होगा। मुहूर्त ट्रेंडिंग शाम 6.15 से शुरू होगी जो शाम के 7.15 तक चलेगी। इस दौरान लगातार दो दिनो से सुस्त शेयर बाजार में जबरदस्त तेजी की उम्मीद जताई जा रही है।

पांच दशक पुरानी है यह परंपरा

शेयर बाजार में दिवाली के दिन एक घंटे के लिए मुहूर्त ट्रेडिंग की परंपरा पांच दशक पुरानी है। मुहूर्त ट्रेडिंग का चलन बीएसई में 1957 और एनएसई में 1992 में शुरू हुआ था। विशेषज्ञ बताते हैं कि मुहूर्त ट्रेडिंग पूरी तरह परंपरा से जुड़ी है। अधिकांश लोग इस दिन शेयर खरीदते हैं। हालांकि, आमतौर पर ये निवेश काफी छोटे और प्रतीकात्मक होते हैं।

इस दिन पहले निवेश को माना जाता है शुभ

मुहूर्त ट्रेडिंग सेशन में निवेशक और ब्रोकर्स मूल्य-आधारित स्टॉक खरीदते हैं, जो लंबी अवधि के लिए अच्छे होते हैं। निवेशक मानते हैं कि इस अवसर पर खरीदे कमोडिटी ट्रेडिंग क्या है गए शेयरों को भाग्यशाली आकर्षण के रूप में रखा जाना चाहिए। वे शेयर खरीदते हैं और यहां तक कि उन्हें अगली पीढ़ी तक ले जाते हैं। दिवाली को कुछ भीनया काम शुरू करने के लिए शुभ माना जता है। ऐसे में कई निवेशक इस विशेष मुहूर्त ट्रेडिंग सत्र के दौरान शेयर बाजार में अपना पहला निवेश करते हैं।

पिछले वर्ष मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान हरे निशान में हुआ था कारोबार

पिछले वर्ष यानी 2021 की दिवाली के दिन एक घंटे के लिए हुई मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान सेंसेक्स-निफ्टी हरे निशान पर खुले थे। 6.15 बजे शाम को बीएसई का सेंसेक्स 60,207.97 के स्तर पर खुला था और एनएसई का निफ्टी 17,935.05 पर स्तर पर खुला था। पूरे ट्रेडिंग सेशन के दौरान दोनों हरे निशान पर कारोबार करते रहे थे। कारोबार के अंत में 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 296 अंक या 0.49 फीसदी की बढ़त के साथ 60,067.62 के स्तर पर बंद हुआ था, जबकि निफ्टी 88 अंक उछलकर 17,916.80 के स्तर पर बंद हुआ। इस दौरान सेंसेक्स के सभी सेक्टर्स में जमकर खरीदारी दिखी थी।

विस्तार

दिवाली के दिन यूं तो शेयर बाजार बंद रहता है पर एक खास परंपरा के तहत यह एक घंटे के लिए खुलता है और शेयरों की खरीद-बिक्री भी होती है। इस दिन शेयर बाजार में खास ट्रेडिंग की परंपरा है, जिसे मुहूर्त ट्रेडिंग कहा जाता है। इस एक घंटे में निवेशक अपना छोटा निवेश करके बाजार की परंपरा को निभाते हैं। ऐसी मान्यता है कि इस दिन मुहूर्त ट्रेडिंग से समृद्धि आती है और पूरे साल निवेशकों पर धन बरसता है। दिवाली पर यह ट्रेडिंग इक्विटी, इक्विटी फ्यूचर एंड ऑप्शन, करेंसी एंड कमोडिटी मार्केट, तीनों में होती है। प्री-ओपन सेशन शाम के 6 बजे से 6.15 बजे तक होगा। मुहूर्त ट्रेंडिंग शाम कमोडिटी ट्रेडिंग क्या है 6.15 से शुरू होगी जो शाम के 7.15 तक चलेगी। इस दौरान लगातार दो दिनो से सुस्त शेयर बाजार में जबरदस्त तेजी की उम्मीद जताई जा रही है।

पांच कमोडिटी ट्रेडिंग क्या है दशक पुरानी है यह परंपरा

शेयर बाजार में दिवाली के दिन एक घंटे के लिए मुहूर्त ट्रेडिंग की परंपरा पांच दशक पुरानी है। मुहूर्त ट्रेडिंग का चलन बीएसई में 1957 और एनएसई में 1992 में शुरू हुआ था। विशेषज्ञ बताते हैं कि मुहूर्त ट्रेडिंग पूरी तरह परंपरा से जुड़ी है। अधिकांश लोग इस दिन शेयर खरीदते हैं। हालांकि, आमतौर कमोडिटी ट्रेडिंग क्या है पर ये निवेश काफी छोटे और प्रतीकात्मक होते हैं।

इस दिन पहले निवेश को माना जाता है शुभ

मुहूर्त ट्रेडिंग सेशन में निवेशक और ब्रोकर्स मूल्य-आधारित स्टॉक खरीदते हैं, जो लंबी अवधि के लिए अच्छे होते हैं। निवेशक मानते हैं कि इस अवसर पर खरीदे गए शेयरों को भाग्यशाली आकर्षण के रूप में रखा जाना चाहिए। वे शेयर खरीदते हैं और यहां तक कि उन्हें अगली पीढ़ी तक ले जाते हैं। दिवाली को कुछ भीनया काम शुरू करने के लिए शुभ माना जता है। ऐसे में कई निवेशक इस विशेष कमोडिटी ट्रेडिंग क्या है मुहूर्त ट्रेडिंग सत्र के दौरान शेयर बाजार में अपना पहला निवेश करते हैं।

पिछले वर्ष मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान हरे निशान में हुआ था कारोबार

पिछले वर्ष यानी 2021 की दिवाली के दिन एक घंटे के लिए हुई मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान सेंसेक्स-निफ्टी हरे निशान पर खुले थे। 6.15 बजे शाम को बीएसई का सेंसेक्स 60,207.97 के स्तर पर खुला था और एनएसई का निफ्टी 17,935.05 पर स्तर पर खुला था। पूरे ट्रेडिंग सेशन के दौरान दोनों हरे निशान पर कारोबार करते रहे थे। कारोबार के अंत में 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 296 अंक या 0.49 फीसदी की बढ़त के साथ 60,067.62 के स्तर पर बंद हुआ था, जबकि निफ्टी 88 अंक उछलकर 17,916.80 के स्तर पर बंद हुआ। इस दौरान सेंसेक्स के सभी सेक्टर्स में जमकर खरीदारी दिखी थी।

Stock Market: क्या शेयर बाजार में नहीं होगा कामकाज? स्टॉक मार्केट की आज छुट्टी है या नहीं

Stock Market Holiday : आज गुरुनानक जयंती (Guru Nanak Jayanti) है। इसके चलते आज शेयर बाजारों में कामकाज नहीं होगा। कमोडिटी मार्केट्स (Commodity Markets) सुबह बंद रहेंगे। हालांकि, शाम के सत्रों में कमोडिटी बाजार खुले रहेंगे। करेंसी मार्केट (Currency Market) आज पूरी तरह बंद रहेगा। यहां कोई कामकाज नहीं होगा।

Stock Market Holiday

Stock Market Holiday : आज बंद रहेंगे शेयर बाजार

हाइलाइट्स

  • शेयर बाजार में आज है गुरुनानक जयंती की छुट्टी
  • कमोडिटी मार्केट में सुबह नहीं होगा कोई कामकाज
  • करेंसी मार्केट आज पूरी तरह से रहेंगे बंद

नई दिल्ली :कमोडिटी ट्रेडिंग क्या है कमोडिटी ट्रेडिंग क्या है भारतीय शेयर बाजार (Indian Stock Markets) आज मंगलवार को बंद रहेंगे। आज गुरुनानक जयंती (Guru Nanak Jayanti) होने के चलते शेयर बाजार बंद हैं। यह कैलेंडर वर्ष 2022 की आखिरी ट्रेडिंग छुट्टी (Trading Holiday) है। इस साल शेयर बाजार में कुल 13 ट्रेडिग हॉलिडे रही हैं। कमोडिटी मार्केट्स (Commodity Markets) की बात करें, तो ये सुबह बंद रहेंगे। हालांकि, शाम के सत्रों में कमोडिटी बाजार खुले रहेंगे। उधर करेंसी मार्केट (Currency Market) आज पूरी तरह बंद रहेगा। सोमवार के सत्र में निफ्टी और सेंसेक्स दोनों ही बढ़त के साथ बंद हुए थे। सोमवार को लगातार दूसरे सत्र में बाजार में तेजी रही। सोमवार को बीएसई सेंसेक्स करीब 235 अंक चढ़कर एक बार फिर 61,000 अंक के स्तर को पार कर गया था।

बैंकिंग, ऑटो और मेटल शेयरों में अच्छी लिवाली

वैश्विक बाजारों में मजबूत रुख के बीच बैंकिंग, ऑटो और मेटल शेयरों में अच्छी लिवाली से बाजार में तेजी रही। कारोबारियों के अनुसार, अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये में मजबूती और विदेशी पूंजी प्रवाह जारी रहने से भी घरेलू बाजारों को सपोर्ट मिला। भारी उतार-चढ़ाव के बीच तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 234.79 अंक यानी 0.39 फीसदी की बढ़त के साथ 61,185.15 अंक पर बंद हुआ था। वहीं, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 85.65 अंक यानी 0.47 फीसदी की बढ़त के साथ 18,202.80 अंक पर बंद हुआ था।

एसबीआई के शेयर में बढ़िया उछाल

सोमवार को सेंसेक्स के शेयरों में भारतीय स्टेट बैंक सबसे अधिक 3.44 प्रतिशत चढ़ा। एसबीआई के शानदार रिजल्ट के चलते ऐसा हुआ। बैंक ने शनिवार को बताया था कि कर्ज और ब्याज आय में मजबूती से उसका शुद्ध लाभ सितंबर तिमाही में सालाना आधार पर 74 फीसदी बढ़ा। इस दौरान बैंक को किसी तिमाही में अब तक का सबसे अधिक लाभ हुआ। इसके अलावा सोमवार को टाटा स्टील, अल्ट्राटेक सीमेंट, आईसीआईसीआई बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा, मारुति, पावरग्रिड और एचडीएफसी बैंक भी प्रमुख रूप से लाभ में रहे थे।
Inox Green IPO: आईनॉक्स ग्रीन एनर्जी सर्विसेज 11 नवंबर को लॉन्च करेगी आईपीओ, तय किया गया प्राइस बैंड, देखें डिटेल
अमेरिका के महंगाई के आंकड़े अहम

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘चीन में कोविड पाबंदियों के हटने की अफवाह और अमेरिका में रोजगार के मजबूत आंकड़ों से भी बाजार को समर्थन मिला है। हालांकि, निवेशकों को बाजार की दिशा के लिये अमेरिका में मुद्रास्फीति के आंकड़ों की प्रतीक्षा है। इसका कारण कंपनियों के तिमाही परिणामों के बाद घरेलू स्तर पर स्पष्ट रुख का अभाव है. ।’’

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म. पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

रेटिंग: 4.91
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 469