Crypto News: शीबा इनु के इस यूरोपीय अवतार ने एक दिन में दिया 25,000 फीसदी रिटर्न, आप करेंगे निवेश?

Shiba Inu Coin Kya Hai

Shiba Inu Coin Coin भी Bitcoin की तरह एक क्रिप्टो करेंसी है जो Decentralized करेंसी है जिसे अगस्त 2020 में लाँच किया गया है Shiba Inu का भविष्य क्या है इसका कोड नाम SHIB है इस Coin को शीबा टोकन के नाम से भी जाना जाता है Shiba Inu एक इथेरियम पर आधारित टोकन (ईआरसी-20) या एक मीम क्रिप्टोकरेंसी है. इसे 2021 में अपने अनोखे ‘डॉग-थीम्ड’ इकोसिस्टम के चलते बहुत तेजी से लोकप्रियता हासिल हुई. इस मीम क्रिप्टोकरेंसी के ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट पर कई अन्य क्रिप्टो कंपनियों से ज्यादा फॉलोअर हैं. ये दिखाता है कि छोटे निवेशकों के बीच ये कितना पॉपुलर है.

इस मीम डिजिटल एसेट की इंस्पिरेशन जापान के इसी नाम के डॉग ब्रीड से ली गई है. इसने 2013 में एक वायरल मीम ट्रेंड शुरू किया था. इसी के बाद डोजेकॉइन क्रिप्टोकरेंसी का क्रिएशन हुआ था.

वर्चुअल कॉइन मार्केट में ये दूसरी सबसे लोकप्रिय मीम क्रिप्टोकरेंसी है. भले ये एक मीम क्रिप्टोकरेंसी है. अक्टूबर 2021 में Shiba Inu 11वीं सबसे ज्यादा लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी बन गई है. Shiba Inu Coin Kya Hai , Shiba Inu Price Prediction

Shiba Inu Coin coin को खरीदना बहुत ही आसान है सबसे पहले आपको अपनी kyc complete करनी होगी। जिसको verify होने में बस कुछ ही समय लगता है। दूसरा आपको अपने exchange wallet में fund डालना होगा। लगभग सारे indian cryptocurrency exchange upi और net banking payment method accept करते है।

Shiba Coin की कीमत Kya Hai?

इसकी कीमत 0.003244 रुपये के आसपास होती रहती है और Shiba Coin 2.06 फीसदी की तेजी से इसकी कीमत बढ़ रही है.

सबसे सस्ती क्रिप्टो करेंसी कौन सी है?

सबसे सस्ती क्रिप्टोकरंसी Shiba Coin ही है जिसकी कीमत INR ₹0.002390 है.

Shiba Inu Coin सिक्का कब लॉन्च हुआ था?

Shiba Inu Coin टोकन यानी की सिक्के की शुरुआत अगस्त 2020 में की गई थी

आप Shiba Inu Coin कहाँ खरीद सकते हैं?

Dogecoin और ethereum के आने से भारत के सबसे बड़े cryptocurrency exchange wazirx के server को पूरी तरह से तहस नहस कर दिया है। जहां पहले wazirx भारत मे सबसे बड़ा crypto exchange wallet था Shiba Inu Coin coin के आने से इस पर बहुत ही बुरा प्रभाव पड़ा है। Shiba Inu Coin coin को हम wazirx पर exchange नही कर सकते है, shiba coin अभी market में आया है

Future Of Shiba Inu Coin Coin In Hindi

जिस तरीके से Dogecoin Coin को एलोन मस्क ने अपने ट्विटर के जरिये Dogecoin Shiba Inu का भविष्य क्या है के जिक्र किया तो Dogecoin काफी तेज़ी इसकी वैल्यू बढती गयी और Top 5 क्रिप्टो करेंसी में Dogecoin का नाम आता है जिन्हें क्रिप्टो के बारे में कुछ भी नहीं पता वो भी Shiba Coin में इन्वेस्ट कर रहा है Shiba Coin एक मीम कॉइन नहीं रह गया बल्कि ये बहुत बड़ा इकोसिस्टम बन चूका है. Shiba Inu Coin Kya Hai , Shiba Inu Price Prediction

क्रिप्टो एक्सपर्ट का कहना है की Shiba Coin आने वाले समय में इसकी किम्मत में बहुत बड़ा उछाल देखने को मिल सकता है कुछ दिनों में यह कॉइन 1 रूपए के बराबर हो जायेगा और 2030 से पहले इसकी किम्मत 1 डॉलर से भी ज्यादा हो सकती है दोस्तों Shiba Coin जब 1 रूपए तक पहुच जायेगा तब इसकी मार्केट Capitalization 300 बिलियन डॉलर तक हो जाएगी Shiba Inu Coin Kya Hai , Shiba Inu Price Prediction

लेकिन इसकी किम्मतो को लेकर कहना थोडा मुश्किल होगा की इस कॉइन की भविष्य में वैल्यू क्या होगी लेकिन अगर आप इस Coin में लम्बे समय के लिए निवेश करते है तो यह कॉइन अच्छे रिटर्न दे सकता है.

Crypto News: शीबा इनु के इस यूरोपीय अवतार ने एक दिन में दिया 25,000 फीसदी रिटर्न, आप करेंगे निवेश?

Bitcoin जैसी क्रिप्टोकरेंसीज की लोकप्रियता दुनिया भर में बढ़ती जा रही है और भारत भी इससे अछूता नहीं है। बड़ी संख्या में युवा निवेशक इनकी ओर आकर्षित हुए हैं।

mind-boggling rally shiba inus European version jumps 25,000 in a day

Crypto News: शीबा इनु के इस यूरोपीय अवतार ने एक दिन में दिया 25,000 फीसदी रिटर्न, आप करेंगे निवेश?

यूरो शीबा इनु का भाव

Shiba Inu: दुनिया की लोकप्रिय क्रिप्टो करेंसी शीबा इनु का यूरोपीय वर्जन यूरो श‍िबा इनु (Euro Shiba Inu) ने सिर्फ 24 घंटे में 25,000 फीसदी का रिटर्न दिया है। इस समय क्रिप्‍टोकरेंसी शीबा इनु में 211 फीसदी की तेजी देखने को मिल रही है। इसके साथ ही यूरो शीबा इनु अपने ऑलटाइम हाई से नीचे भी आ गया है। शीबा इनु का भाव $0.000000000003 से $0.000000000076 के उच्च स्तर पर पहुंच गया था।

शीबा इनु के भाव में उछाल

Euro shiba inu के भाव में 25,000 फीसदी का उछाल क्रिप्टो के भाव में भारी उतार-चढ़ाव का ताजा उदाहरण है। यूरो शीबा में चंद घंटों में भारी तेजी आई और फिर उसमें आई बढ़त खत्म भी हो गयी। एक्सपर्ट का कहना है कि यूरो शीबा इनु वर्क इन प्रोग्रेस मोड में एक गैर-सरकारी, गैर-लाभकारी प्रोजेक्ट था। जब यूरो शीबा इनु के दाम दिन की ऊंचाई पर थे तो टोकन का मार्केट कैप 230,000,000 डॉलर था। आंकड़ों के अनुसार इस मीम टोकन की ट्रेडिंग वॉल्यूम में 1,570 फीसदी उछाल देखने को मिला है।

यूरो शीबा इनु के कितने टोकन

Euro Shiba Inu टोकन के भाव में 200 फीसदी की तेजी देखने को मिल रही है और इसके भाव 0.000000000026 डॉलर पर हैं। यूरो शीबा इनु की अधिकतम सप्‍लाई 420,000,000,000,000,000 टोकन की है। हालांकि यूरो शीबा इनु के भाव में तेजी के बाद ट्रेडिंग वॉल्यूम बढ़ने की वजह से इसके 410,000,000,000,000,000 टोकन की आपूर्ति हो चुकी है।

शीबा इनु का भारत में भाव

भारत में श‍िबा इनु के भाव में इस अवधि में 14 फीसदी से ज्‍यादा की तेजी देखने को मिल रही है, जिसकी वजह से दाम 0.003345 रुपये पर पहुंच गया है। भारत में शीबा इनु कॉइन के भाव में लगातार तेजी Shiba Inu का भविष्य क्या है देखने को मिल रही है। एक्सपर्ट के मुताबिक श‍िबा इनु के दाम काफी कम हैं, जिसकी वजह से भारत में यह करेंसी काफी पापुलर हो रही है। आने वाले दिनों में इसके दाम में और ज्‍यादा तेजी देखने को मिल सकती है।

यूरो शीबा इनु की खासियत

एक्सपर्ट के मुताबिक कि यूरो शीबा इनु अपने यूनीक रिवार्ड प्रोग्राम की बदौलत असाधारण प्रदर्शन कर रही है। Euro Shiba Inu ईशिब होल्डर्स को प्रत्येक लेनदेन के लिए 5 प्रतिशत, प्राकृतिक आपदाओं के दौरान राहत प्रयासों के उद्देश्य से दान के लिए 5 प्रतिशत, पारिस्थितिकी और पर्यावरण के बारे में जागरूकता फैलाने का काम कर रहा है। बहुत से लोग साक्षरता और हरित पर्यावरण के बारे में जागरूकता फैलाने की वजह से shiba inu से जुड़ेंगे और इसकी वकालत करेंगे।

700 करोड़ की क्रिप्टोकरंसी खत्म करेगी ये कंपनी, जानिए अब खरीदने वालों का क्या होगा

इथीरियम के को-फाउंडर विटालिक ब्यूटेरिन ने शिबा इनू में बड़े पैमाने पर निवेश किया है. अब वे उसमें से हटना चाहते हैं. शिबा इनू का निर्माण अगस्त 2020 में किया गया था.

700 करोड़ की क्रिप्टोकरंसी खत्म करेगी ये कंपनी, जानिए अब खरीदने वालों का क्या होगा

क्रिप्टोकरंसी इथीरियम (cryptocurrency Ethereum) के को-फाउंडर विटालिक ब्यूटेरिन ने बड़ा ऐलान किया है. उन्होंने कहा है कि शिबा इनू होल्डिंग्स में इथीरियम (Ethereum) का 90 फीसद हिस्सा वे खत्म कर देंगे. बाकी के बचे 10 परसेंट कॉइन को दान में बांट देंगे. ब्यूटेरिन के इस ऐलान से क्रिप्टो (cryptocurrency) की दुनिया में तहलका Shiba Inu का भविष्य क्या है मच गया है. इथर में पैसा लगाने वालों को कुछ सूझ नहीं रहा कि वे क्या करें, उनके निवेश का आगे भविष्य क्या है.

‘बिजनेस इनसाइडर’ की एक रिपोर्ट बताती है कि ब्यूटेरिन के ऐलान के बाद मार्केट से 40 परसेंट तक इथीरियम को लोगों ने हटा लिया है. ब्यूटेरिन ने कहा है कि उनके सामने अभी दो ही रास्ते बचते हैं. या तो इथर को खत्म (burning) कर दें या उसे दान में बांट दें. इसके बाद तेजी से मार्केट से इथीरियम हटाए जाने लगे हैं. इथीरियम के जितने भी शिबा इनू (shiba Inu holdings) टोकन या कॉइन हैं, उसमें आधा हिस्सा उन लोगों ने दिया है जो कॉइन की माइनिंग करते हैं, उसे तैयार करते हैं. ब्यूटेरिन शिबा इनू होल्डिंग से हटना चाहते हैं और इसके लिए वे या तो इथर को खत्म करें या फिर लोगों में बांट दें, यही अंतिम विकल्प है.

कब शुरू हुआ था शिबा इनू

शिबा इनू बिटकॉइन, इथर या डोजकॉइन की तरह डिजिटल करंसी है. इसे क्रिप्टोकरंसी भी कहते हैं. इथीरियम के को-फाउंडर विटालिक ब्यूटेरिन ने शिबा इनू में बड़े पैमाने पर निवेश किया है. अब वे उसमें से हटना चाहते हैं. शिबा इनू का निर्माण अगस्त 2020 में किया गया था. तब इसे रयोशी के नाम से पुकारा जाता था. इसे जोक कॉइन का नाम भी दिया गया है. साल भर पहले डोजकॉइन का बड़ा नाम हो रहा था. उसे रोकने के लिए शिबा कॉइन की इजाद की गई. देखते-देखते शिबा इनू ने डोजकॉइन का रास्ता रोक दिया. डोजकॉइन के कस्टमर्स शिबा में निवेश करने लगे. इस करंसी का नाम जापानी कुत्ते की प्रजाति शिबा इनू के नाम पर रखा गया.

कैसे करते हैं ट्रेडिंग

भारत में शिबा इनू की ट्रेडिंग वजीरएक्स एक्सचेंज के जरिये होती है. ब्यूटेरिन के ऐलान के बाद शिबा इनू के दाम में बड़ी गिरावट देखी जा रही है. वजीरएक्स के अलावा शिबा इनू (Shiba Inu) की ट्रेडिंग यूनीस्वैप और कॉइनडीसीएक्स से भी कर सकते हैं. यह एक्सचेंज इथीरियम और उस Shiba Inu का भविष्य क्या है पर आधारित टोकन-कॉइन को बेचने और खरीदने का काम करता है. शिबा इनू को डॉलर या BUSD यानी कि बिनेंस यूएस डॉलर में ही खरीद और बेच सकते हैं.

बर्निंग का मतलब क्या है

ब्यूटेरिन ने शिबा इनू (shiba Inu holdings) को ‘बर्न’ करने की बात कही है. यहां बर्न से मतलब शिबा इनू को खत्म करना है. क्रिप्टो कॉइन को खत्म करने का भी एक प्रोसेस होता है जो पूरी तरह से डिजिटल होता है. शिबा इनू में पैसा लगाने वाले या बाकी लोगों को भी बर्निंग का प्रोसेस समझना चाहिए. कोई भी क्रिप्टो कॉइन या करंसी कंप्यूटर सॉफ्टवेयर से बनाई जाती है. यह सबकुछ एक कोड में होता है जो खरीदने वालों की कंपनी या उसके डेवलपर की ओर से दी जाती है. यह जानकारी पूरी तरह से सीक्रेट होती है और कोड के बारे में खरीदार और बेचने वाले को ही जानकारी होती है. कोड की हैकिंग न हो सके, इसके लिए अलग से वॉलेट बनाया जाता है जो इंटरनेट से जुड़ा नहीं होता.

इतने रुपये की खत्म होगी करंसी

बेचने वाले लोग इसी कोड को बेचते हैं और उसका ट्रांजेक्शन डॉलर आदि में करते हैं. शिबा इनू को बर्न किया जाएगा, यानी कि इसके कोड तक लोगों की पहुंच नहीं होगी. जो कॉइन पहले से है, वह बेकार हो जाएगी. अब तक 40 परसेंट शिबा इनू (shiba Inu holdings) बर्न कर दिया गया है. यह पूरी राशि 7 अरब डॉलर की है और इसमें 410 खरब कॉइन को खत्म किया गया है. ब्यूटेरिन के इस ऐलान के बाद निवेशकों में चिंता बढ़ गई है. निवेशकों को लग रहा है कि शिबा इनू का आगे क्या होगा और क्रिप्टोकरंसी कहां जाएगी.

700 करोड़ की क्रिप्टोकरंसी खत्म करेगी ये कंपनी, जानिए अब खरीदने वालों का क्या होगा

इथीरियम के को-फाउंडर विटालिक ब्यूटेरिन ने शिबा इनू में बड़े पैमाने पर निवेश किया है. अब वे उसमें से हटना चाहते हैं. शिबा इनू का निर्माण अगस्त 2020 में किया गया था.

700 करोड़ की क्रिप्टोकरंसी खत्म करेगी ये कंपनी, जानिए अब खरीदने वालों का क्या होगा

क्रिप्टोकरंसी इथीरियम (cryptocurrency Ethereum) के को-फाउंडर विटालिक ब्यूटेरिन ने बड़ा ऐलान किया है. उन्होंने कहा है कि शिबा इनू होल्डिंग्स में इथीरियम (Ethereum) का 90 फीसद हिस्सा वे खत्म कर देंगे. बाकी के बचे 10 परसेंट कॉइन को दान में बांट देंगे. ब्यूटेरिन के इस ऐलान से क्रिप्टो (cryptocurrency) की दुनिया में तहलका मच गया है. इथर में पैसा लगाने वालों को कुछ सूझ नहीं रहा कि वे क्या करें, उनके निवेश का आगे भविष्य क्या है.

‘बिजनेस इनसाइडर’ की एक रिपोर्ट बताती है कि ब्यूटेरिन के ऐलान के बाद मार्केट से 40 परसेंट तक इथीरियम को लोगों ने हटा लिया है. ब्यूटेरिन ने कहा है कि उनके सामने अभी दो ही रास्ते बचते हैं. या तो इथर को खत्म (burning) कर दें या उसे दान में बांट दें. इसके बाद तेजी से मार्केट से इथीरियम हटाए जाने लगे हैं. इथीरियम के जितने भी शिबा इनू (shiba Inu holdings) टोकन या कॉइन हैं, उसमें आधा हिस्सा उन लोगों ने दिया है जो कॉइन की माइनिंग करते हैं, उसे तैयार करते हैं. ब्यूटेरिन शिबा इनू होल्डिंग से हटना चाहते हैं और इसके लिए वे या तो इथर को खत्म करें या फिर लोगों में बांट दें, यही अंतिम विकल्प है.

कब शुरू हुआ था शिबा इनू

शिबा इनू बिटकॉइन, इथर या डोजकॉइन की तरह डिजिटल करंसी है. इसे क्रिप्टोकरंसी भी कहते हैं. इथीरियम के को-फाउंडर विटालिक ब्यूटेरिन ने शिबा इनू में बड़े पैमाने पर निवेश किया है. अब वे उसमें से हटना चाहते हैं. शिबा इनू का निर्माण अगस्त 2020 में किया गया था. तब इसे रयोशी के नाम से पुकारा जाता था. इसे जोक कॉइन का नाम भी दिया गया है. साल भर पहले डोजकॉइन का बड़ा नाम हो रहा था. उसे रोकने के लिए शिबा कॉइन की इजाद की गई. देखते-देखते शिबा इनू ने डोजकॉइन का रास्ता रोक दिया. डोजकॉइन के कस्टमर्स शिबा में निवेश करने लगे. इस करंसी का नाम जापानी कुत्ते की प्रजाति शिबा इनू के नाम पर रखा गया.

कैसे करते हैं ट्रेडिंग

भारत में शिबा इनू की ट्रेडिंग वजीरएक्स एक्सचेंज के जरिये होती है. ब्यूटेरिन के ऐलान के बाद शिबा इनू के दाम में बड़ी गिरावट देखी जा रही है. वजीरएक्स के अलावा शिबा इनू (Shiba Inu) की ट्रेडिंग यूनीस्वैप और कॉइनडीसीएक्स से भी कर सकते हैं. यह एक्सचेंज इथीरियम और उस पर आधारित टोकन-कॉइन को बेचने और खरीदने का काम करता है. शिबा इनू को डॉलर या BUSD यानी कि बिनेंस यूएस डॉलर में ही Shiba Inu का भविष्य क्या है खरीद और बेच सकते हैं.

बर्निंग का मतलब क्या है

ब्यूटेरिन ने शिबा इनू (shiba Inu holdings) को ‘बर्न’ करने की बात कही है. यहां बर्न से मतलब शिबा इनू को खत्म करना है. क्रिप्टो कॉइन को खत्म करने का भी एक प्रोसेस होता है जो पूरी तरह से डिजिटल होता है. शिबा इनू में पैसा लगाने वाले या बाकी लोगों को भी बर्निंग का प्रोसेस समझना चाहिए. कोई भी क्रिप्टो कॉइन या करंसी कंप्यूटर सॉफ्टवेयर से बनाई जाती है. यह सबकुछ एक कोड में होता है जो खरीदने वालों की कंपनी या उसके डेवलपर की ओर से दी जाती है. यह जानकारी पूरी तरह से सीक्रेट होती है और कोड के बारे में खरीदार और बेचने वाले को ही जानकारी होती है. कोड की हैकिंग न हो सके, इसके लिए अलग से वॉलेट बनाया जाता है जो इंटरनेट से जुड़ा नहीं होता.

इतने रुपये की खत्म होगी करंसी

बेचने वाले लोग इसी कोड को बेचते हैं और उसका ट्रांजेक्शन डॉलर आदि में करते हैं. शिबा इनू को बर्न किया जाएगा, यानी कि इसके कोड Shiba Inu का भविष्य क्या है तक लोगों की पहुंच नहीं होगी. जो कॉइन पहले से है, वह बेकार हो जाएगी. अब तक 40 परसेंट शिबा इनू (shiba Inu holdings) बर्न कर दिया गया है. यह पूरी राशि 7 अरब डॉलर की है और इसमें 410 खरब कॉइन को खत्म किया गया है. ब्यूटेरिन के इस ऐलान के बाद निवेशकों में चिंता बढ़ गई है. निवेशकों को लग रहा है कि शिबा इनू का आगे क्या होगा और क्रिप्टोकरंसी कहां जाएगी.

रेटिंग: 4.43
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 573