व्यापारियों के लिए व्यापार की स्थिति की समीक्षा

साल 1991-92 के आर्थिक सुधारों के बाद, भारत सरकार और राज्य सरकारों द्वारा खास तौर पर आईटी और आईटीईएस के लिए बाहरी व्यापार में उदारीकरण, सूचना प्रौद्योगिकी उत्पादों के आयात पर शुल्क का उन्मूलन, देश के भीतर और बाहर दोनों ही प्रकार के निवेशों पर नियंत्रण में ढील और विदेशी मुद्रा एवं राजकोषीय उपायों ने भारत में इस क्षेत्र पनपने और देश को विश्व के अपतटीय सेवाओं में प्रमुख स्थान हासिल कनरे में सक्षम बनाने में महत्वपूर्ण योगदान किया है। भारत सरकार द्वारा प्रमुख वित्तीय प्रोत्साहन निर्यातोन्मुख इकाईयों (ईओयू), सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क (एसटीपी) और विशेष आर्थिक क्षेत्र (एसईजेड) के लिए दिया गया है।

सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क (एसटीपी)

देश से सॉफ्टवेयर निर्यात को बढ़ावा देने के लिए, 1991 में इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के तहत भारतीय सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क की स्थापना एक स्वायत्त संस्था के रूप में की गई थी। सॉफ्टवेयर निर्यात समुदाय के लिए एसटीपीआई द्वारा दी जाने वाली सेवाएं – सांविधिक सेवाएं, डाटा कम्युनिकेशन सर्वर, ऊष्मायान सुविधाएं (इनक्यूबेशन फैसिलिटीज), प्रशिक्षण औऱ वैल्यू एडेड सेवाएं, हैं। एसएमई और नई इकाईयों पर विशेष फोकस के साथ एसटीपीआई ने सॉफ्टवेयर निर्यात के प्रोत्साहन में महत्वपूर्ण विकासात्मक भूमिका निभाई है। एसटीपी योजना जो कि 100% निर्यातोन्मुख योजना है, सॉफ्टवेयर उद्योग के विकास को बढ़ावा देने में सफल रहा है। पिछले कुछ वर्षों में एसटीपी इकाईयों द्वारा किए गए निर्यात में वृद्धि हुई है।

एसटीपी योजना सॉफ्टवेयर कंपनियों को सुविधाजनक और सस्ते स्थानों पर परिचालन करने और व्यापार की जरूरत के लिहाज से उनकी निवेश औऱ विकास की योजना बनाने की अनुमति देता है। एसटीपी योजना के तहत 4000 से भी ज्यादा इकाई पंजीकृत हैं।

एसटीपी योजना के तहत व्यापारियों के लिए व्यापार की स्थिति की समीक्षा मिलने वाले लाभः

  • आयात पर सीमा शुल्क में पूर्ण छूट।
  • स्वदेशी खरीद पर केंद्रीय उत्पाद शुल्क पर पूर्ण छूट।
  • C के खिलाफ स्वदेशी खरीद पर केंद्रीय बिक्री कर की प्रतिपूर्ति।
  • सभी प्रासंगिक उपकरण/ वस्तुएं जिसमें दूसरे से लिए गए (सेकेंड हैंड) उपकरण भी शामिल हैं, का आयात किया जा सकता है ( निषिद्ध वस्तुओं को छोड़कर)।
  • उपकरणों का आयात ऋण/ पट्टे पर भी किया जा सकता है।
  • ऑटोमेटिक रूट के जरिए 100% प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की अनुमति है ।
  • निर्यात के एफओबी मूल्य का 50% तक डीटीए में बिक्री की इजाजत है।
  • प्रशिक्षण के लिए आयातित कंप्यूटर का इस्तेमाल कुछ शर्तों के अधीन है।
  • पांच वर्षों में कंप्यूटर पर मूल्यह्रास त्वरित दरों में 100% तक की अनुमति है।

एसटीपीआई वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें– http://www.stpi.in/ (बाहरी वेबसाइट नई विंडो में खुलेंगे) ।

विशेष आर्थिक क्षेत्र (स्पेशल इकोनॉमिक जोन्स– एसईजेड) योजना

साल 2005 में, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय, भारत सरकार के वाणिज्य विभाग ने अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धी एवं निर्यात के लिए बाधा मुक्त वातावरण प्रदान कनरे के उद्देश्य से विशेष आर्थिक क्षेत्र (एसईजेड) अधिनियम को अनियमित किया था।

सेज को इस प्रकार परिभाषित किया गया है, "विशेष रूप से सीमांकिंत शुल्क मुक्त परिवृत्त (एन्क्लेव) और व्यापार संचालन उद्देश्यों और कर्तव्यों एवं शुल्कों के प्रयोजन के लिए इसे विदेशी जमीन समझा जाएगा (सीमा शुल्क अधिकार क्षेत्र से बाहर)"व्यापारियों के लिए व्यापार की स्थिति की समीक्षा । एसईजेड नियमों द्वारा समर्थित एसईजेड अधिनियम, 2005 10 फरवरी 2006 से प्रभावी हुआ। यह केंद्र और राज्य सरकारों से जुड़े मामलों पर बेहद सरल प्रक्रिया और एक सिंगल विंडो क्लियरेंस नीति प्रदान करता है। यह योजना बड़े उद्योगों के लिए आदर्श है और भविष्य के निर्यातों और रोजगार पर इसका महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ेगा।

एसईजेड योजना एसईजेड इकाईयों को अप्रत्यक्ष करों के संबंध में एसटीपीआई के तहत आने वाली इकाईयों के मुकाबले परिचालन विवरणों में कुछ मामूली अंतर के साथ वैसी ही सुविधाएं व्यापारियों के लिए व्यापार की स्थिति की समीक्षा प्रदान करता है। इसलिए यहां आयकर छुट्टी (इनकम टैक्स हॉलिडे) के संबंध में महत्वपूर्ण अंतर है। एसईजेड योजना में परिचालन शुरु होने की तारीख से आगले 15 वर्षों तक आयकर में बहुत छूट मिलती है। यहां पहले पांच वर्षों में निर्यात लाभों पर आयकर में 100% की छूट, अगले पांच वर्षों में 50% और फिर अगले पांच वर्षों में 50% की छूट दी जाती है जो विशेष भंडार में मुनाफे के हस्तांतरण के अधीन है।

एसईजेड नीति का उद्देश्य वैश्विक स्तर के व्यवसायों के लिए विश्व स्तरीय संरचनात्मक सुविधाएं, उपयोगिता और सेवाओं हेतु प्रतिस्पर्धी, सुविधाजनक और एकीकृत क्षेत्र (जोन) बनाना है। एसईजेड अधिनियम 2005 में निर्यात संवर्धन और संबंधित बुनियादी ढांचे के निर्माण में राज्य सरकारों की भूमिका पर गौर किया गया है। एसईजेड योजना की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैः

  • एसईजेड इकाईयों के विकास, संचालन और व्यापारियों के लिए व्यापार की स्थिति की समीक्षा रख–रखाव के लिए शुल्क मुक्त निर्यात/ वस्तुओं की घरेलू खरीद।
  • एसईजेड इकाईयों के लिए पहले पांच वर्षों में निर्यात लाभों पर 100% आयकर छूट, अगले पांच वर्षों व्यापारियों के लिए व्यापार की स्थिति की समीक्षा व्यापारियों के लिए व्यापार की स्थिति की समीक्षा में 50% और उसके बाद अगले पांच वर्षों में वापस जोत लाभ (प्लॉज्ड बैक प्रॉफिट्स) पर 50%।
  • केंद्रीय मुहर कर ( सेंट्रल सील टैक्स) से छूट।
  • सेवा कर से छूट।
  • केंद्रीय और राज्य स्तर की मंजूरी के लिए एकल खिड़की मंजूरी (सिंगल विंडो क्लियरेंस)।

इस योजना का भविष्य के निर्यातों और रोजगार पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ा व्यापारियों के लिए व्यापार की स्थिति की समीक्षा है। करीब 235 आईटी– आईटीईएस विशेष एसईजेड को डीओसी ने अधिसूचित किया है।

रतलाम: कोरोना रिटर्न की आशंकाओं के बीच जानिए जिले की स्थिति को लेकर रतलाम कलेक्टर ने क्या कहा

रतलाम,22दिसम्बर(खबरबाबा.काम)। चीन में एक बार फिर कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बाद भारत सहित विश्व के अन्य देश अलर्ट मोड पर आ गए हैं। कल जहां केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने समीक्षा बैठक ली ,वही आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उच्च स्तरीय बैठक लेकर स्थिति की समीक्षा कर रहे हैं। इस बीच रतलाम में प्रशासन की क्या तैयारी है इसको लेकर कलेक्टर नरेंद्र सूर्यवंशी से मीडियाकर्मियों ने चर्चा की।

कलेक्टर नरेंद्र सूर्यवंशी ने कहा कि रतलाम में स्थिति पूरी तरह नॉर्मल है। रूटिंग सेंपलिंग में भी वर्तमान में कोरोना सामने नहीं आया है। अभी तक रतलाम पूरी तरह कोरोना मुक्त है।

कलेक्टर श्री सूर्यवंशी ने कहा कि रतलाम में 97 से 98 प्रतिशत जनसंख्या को वैक्सीन लग चुकी है। फिर भी स्थिति को देखते हुए स्वास्थ विभाग किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार व्यापारियों के लिए व्यापार की स्थिति की समीक्षा है। स्वास्थ्य अमले को अलर्ट रहने के लिए कहा गया है। लगातार समीक्षा के निर्देश दिए गए हैं। रतलाम की जनता भी जागरुक है। आमजन से भी अपील है कि वह कोविड प्रोटोकॉल का पूरी तरह पालन करें ,आवश्यक सतर्कता बरतें और बीमार होने पर चिकित्सक की सलाह अनुसार जांच अवश्य कराएं।

Leo Horoscope Today व्यापारियों के लिए व्यापार की स्थिति की समीक्षा 20 December 2022: सिंह राशि वाले आज काम में न करें जल्दबाजी, हो सकती है हानि, जानें राशिफल

Singh Rashifal Today, Leo Daily Horoscope 20 December: सिंह राशि वालों का आज का दिन बढ़िया रहेगा लेकिन आज किसी भी कार्य में हड़बड़ी से आपको नुकसान हो सकता है. जानें अपना राशिफल (Rashifal).

By: एस्ट्रोलॉजर रुचि शर्मा | Updated at : 20 Dec 2022 07:16 AM (IST)

Singh Rashifal Today, Leo Daily Horoscope 20 December 2022: सिंह राशि वाले लोगों के लिए आज का दिन अच्छा रहने वाला है. नौकरी कर रहे लोगों के लिए भी आज का दिन ठीक रहेगा. व्यापारियों को भी अपने व्यापार में अच्छा मुनाफा होगा. आइए जानते हैं सिंह राशि का राशिफल (Leo Horoscope Today).

सिंह राशि वाले लोगों की बात करें तो आज का दिन आपका खुशियों से भरा रहने वाला है. लेकिन आज आपको कोई भी काम जल्दबाजी में करने से बचना है, नहीं तो परेशानी बढ़ सकती है. इसलिए हर काम को सावधानी और धैर्य से करें. नौकरी पेशा वाले लोगों की बात करें तो आज का दिन आपका बढ़िया रहेगा. आज आपके अधिकारियों के साथ संबंधों में सुधार देखने को मिलेगा और रोजगार की स्थिति में सुधार होगा. जो लोग रोजगार की तलाश में इधर-उधर भटक रहे हैं, आज उन्हें कोई अच्छा कार्य मिल सकता है, जिससे वह काफी खुश नजर आएंगे.

सिंह राशि वालों का दिव व्यापार के मामले में सुखद रहेगा. आप व्यापार से संबंधित नई-नई लागू करेंगे, उसमें आपको लाभ मिलेगा. व्यापार में बढ़ोतरी होगी. आज आपकी किसी रसूखदार व्यक्ति से मुलाकात होगी, जो आपके लिए काफी फायदेमंद होगी. जिससे आपकी आर्थिक स्थिति में मजबूती बनेगी. आपकी जो कार्य किसी कारणवश रुक गए थे, वह भी पूरे होते हुए नजर आएंगे.

सिंह राशि वाले लोगों द्वारा लिए गए फैसलों से परिवार में सुख शांति बनी रहेगी. परिवार के सभी लोग किसी शादी विवाह में सम्मिलित होंगे, जहां सभी लोगों से मेल मिलाप होगा. आज आप कुछ धन का निवेश करने का भी निर्णय लेंगे, जिससे भविष्य में कोई परेशानी ना हो. जो लोग देशों से आयात निर्यात कार्य करते हैं, उन्हें कोई शुभ समाचार सुनने को भी मिल सकता है.

Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.

Published at : 20 Dec 2022 07:16 AM (IST) Tags: Horoscope today Aaj ka rashifal Leo Daily Horoscope Aaj Ka Singh Rashifal Today Leo Horoscope 20 December 2022 हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: Astro News in Hindi

व्यापारियों के लिए व्यापार की स्थिति की समीक्षा

व्यापार के लाभ

1 उद्यम उसमें स्थित एक स्थायी प्रतिष्ठान के माध्यम से अन्य करार राज्य में कारोबार करता है, जब तक एक ठेका राज्य के एक उद्यम के मुनाफे में केवल कि करार राज्य में कर योग्य होगी. उद्यम पूर्वोक्त रूप में व्यापार पर किया जाता है, व्यापारियों के लिए व्यापार की स्थिति की समीक्षा उद्यम के मुनाफे अन्य करार राज्य में लगाया जा सकता है लेकिन उनमें से केवल इतना है कि स्थायी प्रतिष्ठान के कारण है.

प्र.20. अगर, दूसरे करार राज्य में एक स्थायी प्रतिष्ठान है सामान या स्थायी प्रतिष्ठान द्वारा बेचा या द्वारा प्रदान की उन के रूप में एक या समान तरह की सेवाओं renders उन के रूप में एक या समान प्रकार के माल बेचता है जो एक ठेका राज्य के एक उद्यम उद्यम ऐसी बिक्री या सेवाओं स्थायी स्थापना की गतिविधि के कारण नहीं कर रहे हैं साबित होता है कि जब तक स्थायी प्रतिष्ठान, इस तरह की गतिविधियों के मुनाफे में स्थायी स्थापना के लिए जिम्मेदार ठहराया जा सकता है.

(3) एक ठेका राज्य के एक उद्यम उसमें स्थित एक स्थायी प्रतिष्ठान के माध्यम से अन्य करार राज्य में कारोबार करता है, जहां प्रत्येक करार राज्य में है कि स्थायी प्रतिष्ठान को वहाँ जिम्मेदार ठहराया किया जाएगा यह एक विशिष्ट और अलग थे, तो इसे बनाने के लिए उम्मीद की जा सकती है, जो मुनाफा उद्यम ही है या इसी तरह की स्थिति है और यह एक स्थायी प्रतिष्ठान है जो की उद्यम के साथ पूरी तरह से स्वतंत्र रूप से निपटने के तहत एक ही है या इसी तरह की गतिविधियों में लगे हुए हैं. एक स्थायी प्रतिष्ठान के कारण मुनाफे की सही मात्रा निर्धारण या प्रतीति के काबिल नहीं है, जहां किसी भी मामले में उसके असाधारण कठिनाइयों प्रस्तुत करता है, स्थायी प्रतिष्ठान के कारण मुनाफे में एक उचित आधार पर अनुमान लगाया जा सकता है.

(4) यह अपने विभिन्न भागों, पैरा में कुछ भी नहीं करने के लिए उद्यम के कुल मुनाफे का एक प्रभाजन के आधार पर एक स्थायी स्थापना के लिए जिम्मेदार ठहराया जा करने के लिए मुनाफे का निर्धारण करने के लिए एक करार राज्य में प्रथागत किया गया है insofar के रूप में (3) रोकना होगा कि करार राज्य प्रथागत हो सकता है के रूप में इस तरह के एक व्यापारियों के लिए व्यापार की स्थिति की समीक्षा प्रभाजन से लगाया जा करने के लिए मुनाफे का निर्धारण करने से; अपनाया प्रभाजन की विधि, तथापि, परिणाम इस लेख में निर्धारित सिद्धांतों के अनुसार किया जाएगा कि इस तरह किया जाएगा.

प्र.5. एक स्थायी प्रतिष्ठान के मुनाफे के निर्धारण में, कार्यपालिका और सामान्य प्रशासनिक व्यय इतना स्थायी प्रतिष्ठान है, जिसमें राज्य में चाहे खर्च सहित स्थायी स्थापना के व्यापार के प्रयोजनों के लिए खर्च कर रहे हैं जो कटौती खर्च के रूप में वहाँ की अनुमति दी जाएगी स्थित या कहीं और, लेकिन यह उस राज्य की कानून के तहत, उस राज्य के एक उद्यम द्वारा कटौती करने की अनुमति नहीं दी जाएगी जो किसी भी खर्च शामिल नहीं है.

प्र.6. कोई लाभ यह स्थायी प्रतिष्ठान है जो की उद्यम के लिए निर्यात के उद्देश्य के लिए माल या माल की कि स्थायी प्रतिष्ठान द्वारा मात्र खरीद की वजह से एक स्थायी स्थापना के लिए जिम्मेदार ठहराया किया जाएगा.

प्र.7. विपरीत करने के लिए अच्छा और पर्याप्त कारण नहीं है जब तक कि पूर्ववर्ती अनुच्छेदों के प्रयोजनों के लिए, स्थायी स्थापना के लिए जिम्मेदार ठहराया जा मुनाफा साल से एक ही विधि वर्ष से निर्धारित की जाएगी.

8 शब्द "व्यापार के लाभ" व्यापार या कारोबार के पर ले जाने से एक उद्यम से प्राप्त आय का मतलब है; लेकिन किराए के रूप में आय शामिल नहीं है, (टेलीविजन के लिए सिने फिल्मों या वीडियो टेप के संबंध में किराए या रॉयल्टी सहित) रॉयल्टी, तकनीकी सेवाएं, प्रबंधन शुल्क, या पारिश्रमिक या तकनीकी या अन्य कर्मियों की सेवाएं प्रदान करने के लिए फीस के लिए फीस, ब्याज, लाभांश, पूंजीगत लाभ, सेवाओं या जहाजों या विमान के संचालन से आय (पेशेवर सहित) श्रम या व्यक्तिगत के लिए पारिश्रमिक.

आज का राशिफल 23 दिसंबर, 2022- सभी मूलांक वालों के लिए कैसा रहेगा

मूलांक – 1
मूलांक 1, 10, 19, व 28 दिनांक को जन्म लेने वाले जातकों का प्रतिनिधित्व सूर्य देव करते हैं। लम्बे समय से आर्थिक मामलों में आ रही अड़चनों से मुक्ति मिलेगी। व्यापारिक वर्ग के लिए आज का दिन उत्तम रहेगा। नौकरी में आप अपनी सूझबूझ से जटिल कामों का समाधान निकाल पाने में समर्थ रहेंगे।
उपाय- लाल रंग के फूल शिवलिंग पर अर्पित करें।

मूलांक – 2
मूलांक 2, 11, 20 और 29 दिनांक को जन्म लेने वाले जातकों का प्रतिनिधित्व चन्द्र देव करते हैं। विद्यार्थियों का फोकस अपनी आगामी परीक्षा की तरफ रहेगा। जीवनसाथी के साथ किसी बात को लेकर अनबन होने की सम्भावना है। व्यापार से जुड़ी छोटी यात्रा करनी पड़ेगी, जो आपके लिए लाभदायक रहेगी।
उपाय- पीपल के वृक्ष पर दूध चढ़ाएं।

मूलांक – 3
मूलांक 3, 12, 21, 30 दिनांक को जन्म लेने वाले जातकों का प्रतिनिधित्व बृहस्पति देव करते हैं। व्यावसायिक और पारिवारिक जीवन दोनों को संतुलित रखने में आपको सफलता मिलेगी। किसी सामाजिक सम्मलेन में शामिल होने का मौका मिलेगा। रिश्तेदारों और मित्रों के बीच आपकी छवि बढ़ कर सामने आएगी।
उपाय- चने की दाल जल में प्रवाहित करें।

मूलांक – 4
मूलांक 4, 13, 22 और 31 दिनांक को जन्म लेने वाले जातकों का प्रतिनिधित्व राहु देव करते हैं। रुका हुआ धन वापस मिलने के योग बनते हैं, जिससे आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा। कार्यक्षेत्र में आपकी मेहनत के कारण आपकी उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। व्यापार के विस्तार के लिए कुछ कठोर कदम उठाएंगे।
उपाय- धूम्रपान न करें।

मूलांक – 5
मूलांक 5, 14 और 23 दिनांक को जन्म लेने वाले जातकों का प्रतिनिधित्व बुध देव करते हैं। व्यापारिक संपर्कों में वृद्धि होगी। कार्यक्षेत्र में जटिल लग रहे सभी कामों को व्यापारियों के लिए व्यापार की स्थिति की समीक्षा सरलता से पूरा करेंगे, जिस कारण उच्च अधिकारी आप से प्रभावित होंगे। भाई-बहन के बीच चल रहा विवाद माता की मध्यस्थता से सुलझता दिखाई देगा।
उपाय- घर में चौड़े पत्ते वाले पौधे न रखें।

मूलांक – 6
मूलांक 6, 15 और 24 दिनांक को जन्म लेने वाले जातकों का प्रतिनिधित्व शुक्र देव करते हैं। अनावश्यक खर्चों में कटौती करेंगे। व्यावसायिक मामलों में सफलता मिलेगी। बैंक में कुछ पैसा निवेश करने में सफलता मिलेगी। व्यक्तिगत जीवन में कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।
उपाय- दुर्गा सप्तशती का पाठ करें।

मूलांक – 7
मूलांक 7, 16 और 25 दिनांक को जन्म लेने वाले जातकों का प्रतिनिधित्व केतु देव करते हैं। संतान का रुझान धार्मिक कार्यों के प्रति बढ़ेगा। साझेदारी में किसी प्रकार का व्यापार शुरू कर सकते हैं। नौकरी पेशा व्यक्तियों को नयी जिम्मेदारियां मिल सकती हैं। जीवनसाथी के साथ अच्छा तालमेल बना रहेगा।
उपाय- बच्चों को खट्टी-मिट्ठी टॉफ़ी खाने को दें।

मूलांक – 8
मूलांक 8, 17 और 26 दिनांक को जन्म लेने वाले जातकों का प्रतिनिधित्व शनि देव करते हैं। वाहन चलाते समय सावधानी बरतें। आज व्यापार को लेकर व्यर्थ की भागदौड़ लगी रहेगी। आज किसी बड़े निवेश को करने से बचें। संतान की संगति पर नज़र रखने की आवश्यकता है।
उपाय- शमी के पौधे की सेवा करें।

मूलांक – 9
मूलांक 9, 18 और 27 दिनांक को जन्म लेने वाले जातकों का प्रतिनिधित्व मंगल देव करते हैं। प्रतियोगिता की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों को सफलता मिलेगी। कार्यक्षेत्र में कुछ चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। मित्रों के सहयोग से सभी काम बनते नज़र आयेंगे। परिवार में कोई मांगलिक कार्य संपन्न होगा।
उपाय- हनुमान जी को सिंदूर और चोला अर्पित करें।

आचार्य लोकेश धमीजा
वेबसाइट –www.goas.org.in

1100 रुपए मूल्य की जन्म कुंडली मुफ्त में पाएं। अपनी जन्म तिथि अपने नाम, जन्म के समय और जन्म के स्थान के साथ हमें 96189-89025 पर व्हाट्सएप करें

रेटिंग: 4.22
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 126