3. म्यूचुअल फंड में आप 500 या 1000 रुपये से भी SIP की शुरुआत कर सकते हैं. आप यह भी तय कर सकते हैं कि कितने अंतराल पर इसमें निवेश करेंगे. यह साप्ताहिक, मासिक, तिमाही या सालाना आधार पर हो सकता है. इस प्रकार कुछ समय के बाद आप एक बड़ी रकम जुटा सकते हैं.

क्या है म्यूचुअल फंड? कैसे करें निवेश की शुरुआत

मैं म्यूचुअल फंड्स में सीधे निवेश कैसे कर सकता हूँ?

अगर आपका KYC पूरा हो चुका है तो आप म्यूचुअल फंड में सीधे ऑफलाइन या ऑनलाइन निवेश कर सकते हैं। अगर आप ऑनलाइन ट्रांज़ैक्शन करने में असहज महसूस करते हैं, तो आप नज़दीकी शाखा में जाकर फंड में निवेश कर सकते हैं।

ऑनलाइन म्यूचुअल फंड की स्कीमों में सीधे निवेश करने का सबसे आसान तरीका है और आपको कमीशन भी नहीं देना पड़ता। आप फंड की वेबसाइट या उसके RTA की साइट या फिर फिनटेक प्लेटफॉर्म से ऑनलाइन निवेश कर सकते हैं। फंड की वेबसाइट पर सीधे निवेश करने पर आपको कई लॉगिन मैनेज करने पड़ते हैं।

डायरेक्ट प्लान में निवेश करने का मतलब है कि आप फिनांशियल प्लान बनाने, अपने गोल के लिए सबसे सही फंड्स को चुनने, अपने पोर्टफोलियो को नियमित तौर पर मैनेज करने और ज़रूरत पड़ने पर उसमें फेरबदल करने की ज़िम्मेदारी लेते हैं। हर किसी को म्यूचुअल फंड में सही फंड चुनना और पोर्टफोलियो को मैनेज करना नहीं आता है। इसलिए डायरेक्ट प्लान उन निवेशकों के लिए है जो इसे आसानी से कर सकते हैं। अन्यथा, म्युचुअल फंड के बारे में कम जानकार लोगों को डिस्ट्रीब्यूटर द्वारा निवेश करने की सलाह दी जाती है।

म्यूचुअल फंड की स्कीम्स में निवेश करना कैसे शुरू करें?

अब म्यूचुअल फंड्स में निवेश करना इतना आसान और सरल हो गया है कि कोई व्यक्ति अतिरिक्त दस्तावेज़ों के बिना कई फंड्स में निवेश करने के बारे में सोच सकता है। म्यूचुअल फंड में पहली बार निवेश करने वाले निवेशकों को अपना KYC पूरा करना होगा जो एक बार की प्रक्रिया है। KYC सत्यापन पूरा करने में आपकी मदद करने के लिए आप किसी डिस्ट्रिब्यूटर या निवेश सलाहकार के पास जा सकते हैं या आप ऑनलाइन ई-KYC कर सकते हैं। KYC म्यूचुअल फंड्स की दुनिया की चाबी की तरह है। अपना KYC पूरा होने के बाद, आप हर निवेश के लिए आगे सत्यापन से गुज़रे बिना किसी भी फंड में निवेश कर सकते हैं।

KYC सत्यापन के बाद निवेश करने के लिए तैयार होने पर, आप किसी म्यूचुअल फंड डिस्ट्रिब्यूटर, रजिस्टर्ड निवेश सलाहकार, स्टॉक मार्केट ब्रोकर, बैंक या किसी अन्य वित्तीय प्रतिनिधि की मदद से निवेश करने का चुनाव कर सकते हैं। लेकिन अगर आप खुद निवेश करना चाहते हैं, तो आप फंड हाउस के नज़दीकी कार्यालय में जा सकते हैं या ऑनलाइन निवेश करने के लिए उनकी वेबसाइट पर जा सकते हैं अथवा किसी ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से ऐसा कर सकते हैं।

Investment Tips: अमीर बनना है तो जल्द शुरू करें निवेश, केवल 5 साल पहले निवेश स्टार्ट करने पर डबल होगा रिटर्न

Investment Tips: फाइनेंशियल एक्सपर्ट का कहना है कि निवेश के लिए टाइमिंग बहुत जरूरी है. अगर 5 साल पहले SIP की शुरुआत करते हैं तो आपका रिटर्न डबल हो जाता है. वेल्थ क्रिएट करना है तो पावर ऑफ कम्पाउंडिंग को समझना जरूरी है.

Investment Tips: इन्वेस्टमेंट को लेकर कहा जाता है कि जिंदगी में इस काम को जल्द से जल्द शुरू कर देना चाहिए. निवेश की शुरुआत जितनी जल्दी करेंगे, रिटर्न उतना ज्यादा मिलेगा. जी बिजनेस के कार्यक्रम मनी गुरु में वाइजइन्वेस्ट प्राइवेट लिमिटेड के सीईओ हेमंत रुस्तगी ने कहा कि कम्पाउंडिंग की महिमा अपरंपार होती है. कम्पाउंडिंग का पावर इतना ज्यादा है कि केवल 5 साल पहले निवेश शुरू करने पर आपका रिटर्न दो गुना हो जाता है. अगर आपको वेल्थ क्रिएट करना है तो यह इसका एकमात्र फॉर्मूला है. जितनी जल्द निवेश की शुरुआत करेंगे, मुनाफे की बरसात उतनी ज्यादा होगी. आइए पहले इसे उदाहरण से समझते हैं फिर निवेश और वेल्थ क्रिएशन के अन्य पहलुओं को समझते हैं.

पावर ऑफ कम्पाउंडिंग

मान लीजिए कि 'A' की उम्र 30 साल है और वह 10 हजार रुपए की SIP शुरू करता है. औसत रिटर्न 12 फीसदी है. ऐसे में जब वह 50 साल का होगा तो उसे कुल 1 करोड़ की राशि मिलेगी. इस दौरान निवेश की कुल राशि 24 लाख होगी और रिटर्न 76 लाख के करीब मिलेगा. वहीं, 'A' अगर 35 साल की उम्र में निवेश की शुरुआत करता है तो 50 साल की उम्र में उसे कुल 50 लाख रुपए मिलेंगे. निवेश की कुल राशि 18 लाख रुपए होगी और रिटर्न 32 लाख रुपए होगी. अगर 30 की जगह 'A' ने 25 साल की उम्र में निवेश की शुरुआत की होती तो 50 साल के उम्र में उसे कुल 1.9 करोड़ रुपए मिलेंगे. उसके निवेश की कुल राशि 30 लाख रुपए होती और रिटर्न 1.6 करोड़ होता. इस उदाहरण से साफ पता चलता है कि निवेश के लिए टाइमिंग कितना जरूरी होता है.

एक्सपर्ट ने कहा कि निवेश की तैयारी कर रहे हैं तो टैक्स सेविंग को ध्यान में रखना जरूरी होता है. इसके अलावा असेट एलोकेशन भी अहम है. अगर आपके पोर्टफोलियो में असेट क्लास का संतुलन बना है तो रिस्क रिवॉर्ड घट जाता है. ऐसे में अलग-अलग असेट क्लास में संतुलन बनाने का तरीका ये है कि निवेशकों को इक्विटी, डेट, रियल एस्टेट, कमोडिटी में संतुलित निवेश करना चाहिए.

Investment Tips: निवेश के लिए क्या करें इस एक जगह पर निवेश करने से आप कुछ सालों में बन सकते हैं करोड़पति, जानिए कैसे !

निवेश का सिर्फ एक सही फैसला आपको कुछ सालों में ही आपके करोड़पति बनने के सपने को पूरा कर सकता है. आज के समय में निवेश के मामले में ज्‍यादातर एक्‍पर्ट्स म्‍यूचुअल फंड को काफी अच्‍छा मानते हैं.

एक कहावत है कि पैसे से पैसा निवेश के लिए क्या करें बनता है यानी अगर आपको भविष्‍य में अमीर बनना है तो आपको निवेश करना चाहिए. निवेश भी सही जगह होना चाहिए यानी आपको इस बारे में पता होना चाहिए कि आपको कहां रिटर्न करने पर कितना फायदा मिलेगा. आज के समय में निवेश के मामले में ज्‍यादातर एक्‍पर्ट्स म्‍यूचुअल फंड को काफी अच्‍छा मानते हैं. अगर आप भी बाजार की ताकत जानते हैं तो इसकी अहमियत को भी अच्‍छी तरह से समझते होंगे. म्‍यूचुअल फंड में निवेश करके आप चाहें तो खुद को कुछ सालों में करोड़पति भी बना सकते हैं. जानिए कैसे ?

मात्र 5000 का निवेश भी काफी है

इस मामले में फाइनेंशियल एक्‍सपर्ट शिखा चतुर्वेदी कहती हैं कि अगर निवेश के लिए क्या करें आप एक अच्‍छे म्‍यूचुअल फंड का चुनाव करके उसमें निवेश करें तो कुछ सालों में करोड़पति बनना मुश्किल बात नहीं है. अच्‍छे म्‍यूचुअल फंड से आमतौर पर सालाना 12 परसेंट तक ब्‍याज मिल जाता है. कई बार तो ये 14 से 15 प्रतिशत भी हो जाता है. ऐसे में आपको निवेश पर अच्‍छा खासा रिटर्न मिलता है. शिखा कहती हैं कि अगर आप एक अच्‍छे म्‍यूचुअल फंड में 5000 रुपए तक का मासिक निवेश करते हैं तो 12 फीसदी निवेश के लिए क्या करें ब्‍याज के हिसाब से ये अगले 23 साल में 1 करोड़ हो जाएगा. जबकि 23 साल निवेश के लिए क्या करें में आपका निवेश कुल 1380000 रुपए का होगा. अगर इंटरेस्‍ट रेट इससे भी अच्‍छा मिला तो आपका पैसा और ज्‍यादा यानी सवा करोड़ के आसपास पहुंच जाएगा.

निवेश के लिए सही म्‍यूचुअल फंड का चुनाव बहुत जरूरी है. सही यानी वो म्‍यूचुअल फंड जो आपकी जरूरतों को पूरा कर सके. हर व्‍यक्ति को निवेश करने से पहले अपना आर्थिक लक्ष्‍य तय कर लेना चाहिए और इसके बाद ये तय करना चाहिए कि कौन सा म्‍यूचुअल फंड उपर्युक्‍त सा‍बित होगा. उपर्युक्‍त म्‍यूचुअल फंड चुनने के लिए सबसे पहले बेस्‍ट म्‍यूचुअल फंड की दावेदारी करने वाले शीर्ष दावेदारों की लिस्‍ट बनाएं. उनकी तुलना करें और देखें कि आपकी जरूरतों को काैन पूरा कर रहा है. आप चाहें तो आर्थिक सलाहकार की भी मदद ले सकते हैं.

रिटायरमेंट के बाद पेंशन का विकल्‍प

म्‍यूचुअल फंड के जरिए आपको मासिक पेंशन भी मिल सकती है. म्‍यूचुअल फंड सिस्टेमैटिक विद्ड्रॉल प्लान (Systematic Withdrawal Plan) के तहत आपको एक तय राशि म्यूचुअल फंड स्कीम (Mutual Fund Scheme) से वापस मिलती है. अगर इसमें आपका फंड एक करोड़ है तो हर महीने 50 से 60 हजार रुपए मासिक पेंशन के रूप में मिलेंगे. वहीं 50 लाख तक का फंड होने पर 25 से 30 हजार रुपए तक मिलेंगे. अच्‍छी बात ये है कि इसके बाद भी आपके जमा रुपए बढ़ते रहते हैं.

सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान की तरह ही सिस्टमैटिक विड्रॉल प्लान काम करता है. SWP की शुरुआत कभी भी की जा सकती है. अगर किसी स्कीम में निवेश कर रहे हैं तो आप उसमें SWP विकल्प को एक्टिवेट कर सकते हैं. कभी भी रेगुलर कैश फ्लो की जरूरत के लिए इसे शुरू किया जा सकता है. SWP एक्टिवेट करने के लिए आपको फोलियो नंबर, विद्ड्रॉल की फ्रीक्वेंसी, पहली निकासी की तारीख, पैसे प्राप्त करने वाले बैंक अकाउंट को बताते हुए एएमसी में इंस्ट्रक्शन स्लिप भरना होगा.

सम्बंधित ख़बरें

आसान शब्दों में कहें तो म्यूचुअल फंड बहुत सारे लोगों के पैसे से बना एक फंड (Fund) होता है. यहां पर एक फंड मैनेंजर होता है, जो फंड को सुरक्षित तरीके से थोड़ा-थोड़ा करके अलग-अलग जगह पर निवेश करते हैं. म्यूचुअल फंड से आप न सिर्फ शेयर बाजार में बल्कि गोल्ड पर भी निवेश कर सकते हैं.

क्या है एैसेट मैनेजमेंट कंपनी(AMC)?

ऐसी कंपनियां विभिन्न निवेशकों के द्वारा जमा किए गए फंडों को विभिन्न जगहों जैसे इक्विटी, निवेश के लिए क्या करें बॉन्ड, गोल्ड, आदि में निवेश करती हैं और इस निवेश से मिलने वाले रिटर्न को निवेशकों में फंड यूनिट्स के अनुसार बांट देती हैं. एक अच्छा फंड मैनेजर फंड को सही तरीके से निवेश कर उसपर ज्यादा से ज्यादा रिटर्न प्राप्त कर सकता है, जिससे निवेशक को निवेश के लिए क्या करें निवेश के लिए क्या करें अच्छे रिटर्न प्राप्त होंगे.

किस तरह से म्यूचुअल फंड काम करता है, ध्यान से समझते हैं?

रेटिंग: 4.79
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 168