यह आपके अकाउंट मे डिजिटल फार्म मे जमा रहती है। बहुत सी बड़ी बड़ी कंपनियां इसका प्रयोग पेमेंट के लिए करती हैं। अभी तक आप Bitcoin Kya Hai यह तो जान ही गये होंगें, आइये अब समझते हैं क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency kya hai ) क्या है ?

bitcoin kya hai

डेली अपडेट्स

यह एडिटोरियल दिनांक 31/05/2021 को द इंडियन एक्सप्रेस में प्रकाशित लेख “Catching the New Tech Wave” पर आधारित है। इस एडिटोरियल में दुनिया भर में क्रिप्टोकरेंसी के बढ़ते महत्व के बारे में चर्चा की गई है। साथ ही इस बात पर भी चर्चा की गई है कि डिजिटल क्रांति के आगामी चरण में दुनिया के साथ कंधा से कंधा मिलाकर चलने के लिये भारत को इसे स्वीकार करने की आवश्यकता क्यों है?

वर्ष 2008 में बिटकॉइन के निर्माण के साथ आज की तारीख तक क्रिप्टोकरेंसी ने दुनिया भर में अपनी जगह बनाई है। जनवरी 2020 में कोविड-19 महामारी की शुरुआत के बाद से इस क्षेत्र में लाभ आश्चर्यजनक हैं। ज्ञातव्य है कि "क्रिप्टोमार्केट" में 500% से अधिक की वृद्धि हुई।

  • हालाॅंकि 2018-19 के बजट भाषण में वित्त मंत्री ने बताया कि क्रिप्टोकरेंसी सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त नहीं है।
  • इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए कि भारत डिजिटल क्रांति के अब तक सभी चरणों को देर से अपनाने वाला रहा है चाहे वो अर्द्धचालक या इंटरनेट या फिर स्मार्टफोन।
  • अतः अब इन आभासी मुद्राओं पर विचारों को बदलने एवं उन्हें स्वीकृति देने की आवश्यकता है क्योंकि ये भारत की डिजिटल क्रांति के नए चरण में प्रवेश करने की दिशा में भारत का पहला कदम होगा।

क्रिप्टोकरेंसी का महत्त्व:

  • भ्रष्टाचार की रोकथाम: चूंकि क्रिप्टोकरेंसी ब्लॉकचेन प्रणाली अर्थात् पीयर-टू-पीयर नेटवर्क पर कार्य करती हैं, यह धन के प्रवाह और लेनदेन को ट्रैक करके भ्रष्टाचार को रोकने में मदद करता है।
  • समय प्रभावी : क्रिप्टोकरेंसी धन के प्रेषक और रिसीवर के लिये पर्याप्त समय बचाने में मदद कर सकती है क्योंकि यह पूरी तरह से इंटरनेट पर संचालित होता है। यह एक ऐसे तंत्र पर चलता है जिसमें बहुत कम लेनदेन शुल्क शामिल होता है और यह लगभग तात्कालिक होता है।
  • लागत प्रभावी: बैंक, क्रेडिट कार्ड और पेमेंट गेटवे जैसे बिचौलिये Bitcoin का फायदा क्या है अपनी सेवाओं के लिये $ 100 ट्रिलियन की पूरी वैश्विक अर्थव्यवस्था से लगभग 3% शुल्क के रूप में लेते हैं।
    • इन क्षेत्रों में ब्लॉकचेन को एकीकृत करने से सैकड़ों अरबों डॉलर की बचत हो सकती है।

    आगे की राह

    • विनियमन ही समाधान: गंभीर समस्याओं को रोकने के लिये एवं यह सुनिश्चित करने के लिये कि क्रिप्टोकरेंसी का दुरुपयोग न हो तथा निवेशकों को अत्यधिक बाजार अस्थिरता और संभावित घोटालों से बचाने के लिये विनियमन की आवश्यकता है।
      • विनियमन को स्पष्ट, पारदर्शी, सुसंगत और इस दृष्टि से अनुप्राणित होने की आवश्यकता है कि उसका उद्देश्य क्या है।
      • मजबूत केवाईसी मानदंड: क्रिप्टोकरेंसी पर पूर्ण प्रतिबंध के बजाय सरकार कड़े केवाईसी (Know Your Customer) मानदंडों, रिपोर्टिंग और कर योग्यता को शामिल करके क्रिप्टोकरेंसी के व्यापार को विनियमित करेगी।

      भारत Bitcoin का फायदा क्या है वर्तमान में डिजिटल क्रांति के अगले चरण के शिखर पर है और अपनी मानव पूंजी, विशेषज्ञता और संसाधनों को इस क्रांति में शामिल कर इसके नेतृत्वकर्ता के रूप में उभर सकता है। इसके लिये केवल नीति निर्धारण को ठीक करने की आवश्यकता है।

      क्या बिटकॉइन और ब्लॉकचेन को लेकर आप भी कनफ्यूज हैं? आइए जानते हैं दोनों में क्या संबंध है

      ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर बिटकॉइन पहला प्रोजेक्ट है। ब्लॉकचेन एक डिस्ट्रिब्यूटेड लेजर टेक्नोलॉजी है। यह दो पार्टी के बीच हुए ट्रांजेक्शन को रिकॉर्ड करता है।

      पिछले कुछ सालों में ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी (Blockchain Technology) का इस्तेमाल बढ़ा है। टेक्नोनलॉजी और आईटी कंपनियां अपने बिजनेस प्रोसेस के ऑटोमेशन के लिए ब्लॉकचेन का इस्तेमाल कर रही हैं। इसके फायदे को देखते हुए अब ट्रेडिशनल बिजनेसेज भी बाजार में अपनी बढ़त बनाए रखने और तेजी से बढ़ती कस्टमर डिमांड पूरी करने के लिए ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल शुरू कर रहे हैं। कई लोग ब्लॉकचेन और बिटकॉइन (Bitcoin) को लेकर कनफ्यूज रहते हैं। हम आपको ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी और बिटकाइन से इसके संबंध के बारे में बता रहे हैं।

      क्रिप्टोकरेंसी एक डिजिटल करेंसी है। पिछले कुछ सालों में इसकी लोकप्रियता तेजी से बढ़ी है। इसने दुनियाभर की अर्थव्यवस्थाओं के सामने बड़ा चैलेंज पेश किया है। बिटकॉइन सबसे मशहूर क्रिप्टोकरेंसी है। कई लोग बिटकॉइन और ब्लॉकचेन को एक ही चीज समझते हैं। लेकिन दोनों के बीच बहुत अंतर है। हालांकि, दोनों एक दूसरे से संबंधित हैं। ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर बिटकॉइन पहला प्रोजेक्ट है। ब्लॉकचेन एक डिस्ट्रिब्यूटेड लेजर टेक्नोलॉजी है। यह दो पार्टी के बीच हुए ट्रांजेक्शन को रिकॉर्ड करता है।

      बिटकॉइन माइनिंग क्या है ?

      बिटकॉइन माइनिंग का Bitcoin का फायदा क्या है नाम सुनते ही आप सोच में पड़ गए होगे कि क्या बिटकॉइन कोयले या हीरे की खानों से संबंध रखता है, अगर आप ऐसा सोचते हैं तो बता दें कि ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। बिटकॉइन माइनिंग का अर्थ सोने और हीरे की माइनिंग से कतई नहीं है। हालांकि दोनों की माइनिंग की प्रक्रिया एक दूसरे से काफी अलग है, जिस प्रकार से गोल्ड और डायमंड माइनिंग करने के लिए खुदाई की जाती है वैसे ही बड़े बड़े कंप्यूटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के जरिए बिटकॉइन को जेनरेट करने का कार्य करते है।

      • बिटकॉइन माइनिंग एक बहुत ही बड़ा प्रोसेस है,जिसकी वजह से यह एक व्यक्ति के द्वारा कंट्रोल नहीं किया जा सकता है। इसलिए इस काम को करने के लिए बहुत सारे लोगों की जरूरत पड़ती है। बहुत सारे लोगों द्वारा किए जाने के कारण इसे Decentralized system भी कहते हैं।
      • अगर आपने बिटकॉइन के माध्यम से कभी किसी भी प्रकार का पेमेंट किया है। अर्थात अपने bitcoin वॉलेट के माध्यम से अपने किसी अन्य व्यक्ति के वॉलेट में बैलेंस को ट्रांसफर किया है तो बता दें इस कार्य में बिटकॉइन Miners अहम भूमिका निभाते है।
      • उन्हीं के कारण आप सफलतापूर्वक ट्रांसफर कंप्लीट कर पाते हैं,यही नहीं Miners सारी डिटेल Block chain में सेव करने का जिम्मा भी उठाते हैं।
      • बता दें लेनदेन के अलावा Bitcoin Miners बिटकॉइन जेनरेट करने का भी कार्य करते है।

      बिटकॉइन माइनिंग कैसे करें?

      • पुराने समय में बिटकॉइन माइनिंग एक अच्छी रफ़्तार वाले कंप्यूटर के सी.पी.यु और वीडियो ग्राफ़िक्स कार्ड पर हो सकती थी कयोंकि उस समय बिटकॉइन माइनर्स बहुत कम थे। लेकिन आज बिटकॉइन माइनर्स की संख्या बढ़ने के साथ साथ इसकी माइनिंग करना थोड़ा कठिन हो चुका है।
      • आजकल इसकी माइनिंग कस्टम बिटकॉइन ASIC चिप की मदद से की जा रही हैं क्योंकि इससे काफी लाभ प्राप्त कर सकते हैं। अगर हम ASIC चिप से कम रफ्तार वाले किसी हार्डवेयर का इस्तेमाल करते हैं तो उससे अधिक बिजली खर्च होती है जिसकी वजह से हमारा लाभ कम और नुकसान ज़्यादा होता है।
      • बिटकॉइन की माइनिंग करने के लिए यह अधिक ज़रूरी है कि आप बिटकॉइन माइनिंग Bitcoin का फायदा क्या है के लिए बने हार्डवेयर का ही इस्तेमाल करें। मार्किट में ऐसी कई कंपनियां है जो कि बिटकॉइन माइनिंग के लिए तैयार श्रेष्ठ हार्डवेयर की पेशकश करती हैं। Avalon इन में से एक कंपनी है।
      • इसके अलावा आप बिटकॉइन की क्लाउड माइनिंग भी कर सकते हैं जिसमें आपको अपने कंप्यूटर को क्लाउड मायननर से कनेक्ट करना होता है। क्लाउड माइनिंग करने के लिए कई तरह के प्रोग्राम उपलब्ध है लेकिन CGminer और BFGminer इनमें से अधिक प्रसिद्ध प्रोग्राम हैं। ऐसे कई सॉफ्टवेयर भी हैं जिनसे आप बिटकॉइन माइनिंग कर सकते हैं।

      बिटकॉइन का प्रयोग : ( Uses of Bitcoin )

      कई बडी बडी कंपनियां माइक्रोसॉफ्ट,टेसला, एनजीओ, डेवलपर इसका प्रयोग पेमेंट करने के लिये करते हैं। लेकिन आजकल लोगों ने इसे निवेश का जरिया बना लिया है। इसकी बढती कीमतों की वजह से इसमें लोगों की रूचि बढी हैं। पिछले कुछ समय से इसकी कीमतों मे बेहताशा उछाल आया है जिससे लोग इसमे निवेश करके अधिक धन कमाना चाहते हैं। बिटकॉइन बहुत सीमित मात्रा मे बाजार मे हैं और इसकी कीमतों मे बृद्धि की वजह भी यहीं है। बिटकॉइन हाईली वोलेटाइल है, इसकी कीमतों मे एक ही दिन मे तीस से चालीस प्रतिशत तक की गिरावट भी दर्ज की गई है।

      1. आप सीधे तौर पर एक बिटकॉइन को लगभग 35.57 लाख देकर खरीद सकते है। जाहिर तौर पर इतनी बडी रकम सभी के पास नहीं होती है। इसके लिये आप बिटकॉइन की सबसे छोटी यूनिट सतोशी खरीद सकते है।

      2. आप अगर बिजनेसमैन है तब अपने पेमेंट का भुगतान बिटकॉइन के रूप मे ले सकते हैं।

      बिटकॉइन कैसे खरीदें : ( How to Purchase Bitcoin)

      भारत मे बिटकॉइन कई प्लेटफार्म जैसे Zebpay, UnoCoin, CoinSecure से खरीदा जा सकता है। यहां पर अपने पैन नम्बर के जरिये अपनी आईडेंटिटी वेरीफाई करवानी होती है। एक बार वैरीफिकेशन प्रोसेस कम्पलीट होने के बाद आप बिटकॉइन खरीद सकते है।

      • एक ओर जहां बिटकॉइन कीमतों मे रिकॉर्ड उछाल देखने को मिलता है वहीं 20- 30% तक की गिरावट भी देखी जा सकती है। यह हाईली वोलेटाइल है। आज इसमे निवेश करके एक साल बाद मुनाफे के बारे मे आप दावे के साथ कुछ भी नहीं कह सकते है। इसकी कीमतों मे भारी उतार चढाव देखने को मिलता है। अपनी गाढी कमाई को इसमे निवेश करने से पहले अच्छी तरह सोच विचार कर लें।
      • चूंकि इस पर कि सी एजेंसी का नियंत्रण नहीं है अतः इसका प्रयोग ड्रग्स, तस्करी, और अन्य अनुचित गतिविधियों के लेनदेन मे सो सकता है।
      • आप अगर बैंक के जरिये आनलाईन कोई ट्रांजेक्शन करते हैं, कुछ भी खरीदते, बेचते, या निवेश करते है सरकार को टैक्स के रूप मे कुछ राशि का भुगतान भी करते है। बिटकॉइन के जरिये पेमेंट या निवेश मे किसी भी प्रकार की कोई अतिरिक्त राशि का भुगतान नहीं किया जाता है।
      • पिछले समय की तुलना मे आजकल हैकर्स का खतरा बहुत ज्यादा बढ गया है किसी भी वजह से यदि आपका अकाउंट हैक हो जाता है और आपके अकाउंट से आपका पैसा निकल जाता है उस परिस्थिति मे आप कहीं भी अपील नहीं कर पायेंगे।

      बिटकॉइन के फायदे : ( Bitcoin ke Bitcoin का फायदा क्या है Fayade )

      • बिटकॉइन के द्वारा विश्व मे कहीं भी किसी को पेमेंट की जा सकता है।
      • इसमें कोई मिडल एजेंसी न होने के कारण कोई अतिरिक्त चार्ज नहीं लगता है।
      • इसमे अकाउंट को ब्लॉक नहीं किया जा सकता है।

      अगर आप भारत मे आज बिटकॉइन की कीमत की बात करें तो, 1 बिटकॉइन = 35,57,047.06. INR है।

      दोस्तों आपको हमारा यह आर्टिकल Bitcoin kya hota hai / Bitcoin kya hai in hindi पढ़ा। यह जानकारी आपको कैसी लगी। कमेंट मे जरूर बतायें।

      Bitcoin से 10 गुना ज्‍यादा महंगा हुआ यह Crypto Token, 24 घंटे में 93 करोड़ रुपए से ज्‍यादा हुई कीमत

      कॉइन मार्केट कैप डॉट कॉम के आंकड़ों के अनुसार कंपाउंड रैप्‍ड बीटीसी (Wrapped BTC) में 57 हजार फीसदी से ज्‍यादा तेजी देखने को मिल रही है। जिसकी वजह से उसकी कीमत दोबर 12 बजकर 34 मिनट पर 5.41 लाख डॉलर यानी 4.12 करोड़ रुपए देखने को मिल रही है।

      Wrapped BTC is 10 times more expensive than bitcoin, value of more than Rs 93 crore in 24 hours

      बिजनेस डेस्‍क। क्रिप्‍टोकरेंसी मार्केट (Cryptocurrency Market) में कई तरह की क्रिप्‍टोकरेंसी हैं, जो निवेशकों को मालामाल करने में कोई कसर नहीं छोड़ती हैं। लेकिन इनमें से सभी करेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) से छोटी ही थी। दुनिया की सबसे पुरानी क्रिप्‍टोकरेंसी को पछाड़ने का माद्दा किसी ने नहीं दिखाया था। अब ऐसी क्रिप्‍टोकरेंसी सामने आई है जिसने बिटकॉइन की कीमत (Bitcoin Price) को कोसों दूर छोड़ दिया है। मौजूदा समय में वो बिटकॉइन के मुकाबले 10 गुना महंगी है। जबकि कारोबारी स्‍तर के दौरान वो 250 गुना ज्‍यादा महंगी थी। इस करेंसी का नाम है रैप्‍ड बीटीसी (Wrapped BTC) । आइए आपको बताते हैं इस करेंसी के बारे में।

रेटिंग: 4.52
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 507