बिटकॉइन (Bitcoin) की बढ़ती स्वीकार्यता की वजह से हाल के दिनों में इसके मूल्य में भारी उछाल आया है.

बिटकॉइन की वैल्यू क्या है?

बिटकॉइन को हम एक आभासी मुद्रा कह सकते हैं। जैसे डॉलर, रूपी, यूरो, मुद्राएं हैं, ठीक उसी तरह बिटकॉइन भी एक मुद्रा है। लेकिन फर्क ये है की बिटकॉइन को हम ना देख सकते हैं, ना छू सकते हैं.

इसका आविष्कार सतोशी नाकामोटो ने 2009 में किया था. बिटकॉइन का कोई मालिक नहीं है. यानी की कोई भी सरकार या बैंक इसे कंट्रोल नही कर सकती है. तो इसीलिए बिटकॉइन को एक "डिसेंट्रलाइज्ड करेंसी" कहते हैं.

क्रिप्टो करेंसी को सिखने के लिए join करे whatsapp ग्रुप

बिटकॉइन का रेट अभी क्या है?
आज के दिन में बिटकॉइन की वैल्यू 8,85,000 रुपए हैं, यानी की $11,855 . इसकी वैल्यू डिमांड के मुताबिक बदलती रहती है, क्युकी इसको कंट्रोल करने वाली कोई बैंक या अथॉरिटी नही है.

Bitcoin Value: 90 हज़ार डॉलर के पार हो जाएगी बिटकॉइन की वेल्यू, कभी 10 कॉइन के बदले मिलता था एक पिज़्ज़ा

Bitcoin Value: दुनिया की सबसे वैल्युएबल क्रिप्टोकरेंसी 'बिटकॉइन' ( bitcoin price) की वेल्यू इस महीने 90 हज़ार डॉलर के पार होने की पूरी सम्भावना है. एक जमाना था जब बिटकॉइन की वेल्यू सिर्फ इतनी थी के 10 बिटकॉइन के बदले एक पिज़्ज़ा खरीदा जा सकता था. और आज बिटकॉइन क्या बन चुका है परिणाम आपके सामने है। पिछले 6 महीने में बिटकॉइन की वेल्यू दोगुनी हो गई है।

इसी साल जुलाई में बिटकॉइन ( bitcoin) की वेल्यू 30 हज़ार डॉलर हो गई थी लेकिन अप्रेल के महीने में इसकी कीमत 64,889 डॉलर थी। आज बिटकॉइन की वेल्यू 67,803 डॉलर है। ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि अगले साल जनवरी तक बिटकॉइन की वेल्यू बढ़ते हुए 1.20 लाख बिटकॉइन की वैल्यू क्या है? डॉलर के पार हो जाएगी।

क्रिप्टोकरेंसी की बढ़ती जा रही कीमत ( cryptocurrency)

क्रिप्टोकरेंसी की वेल्यू लगातार बढ़ती ही जा रही है। जब बिटकॉइन के शुरुआती चलन में लोग इसे एक स्कैम कहते थे लेकिन निश्चिततौर पर जो लोग इसे सिर्फ एक फ्रॉड या स्कैम मानते रहे होंगे वो आज इसकी वेल्यू देख कर खुद को कोसते होंगे। आज बिटकॉइन की वेल्यू 67,803 डॉलर हो गई है इंडियन रुपया के हिसाब से देखें तो लगभग 50 लाख 17 हज़ार होती है।

पिछले हफ्ते ही 9.5 करोड़ डॉलर की रकम आई

पिछले हफ्ते ही बिटकॉइन में 9.5 करोड़ डॉलर की रकम आई थी। सभी डिजिटल असेट्स में यह सबसे ज़्यादा रकम है। जबकि बीते 2 महीनो में 2.8 अरब डॉलर की रकम इस असेट्स में आई थी। ऑस्ट्रेलिया के सबसे बड़े बैंक ने कहा था कि वो रिटेल ग्राहकों के लिए क्रिप्टो के कारोबार की ऑफरिंग कर रहा है। क्रिप्टो की अन्य करेंसी जैसे बिनांस कॉइन और सोलाना दोनों तीसरे और चौथे नंबर की सबसे लोकप्रिय डिजिटल करेंसी है।

मार्किट कैप 3 ट्रिलियन के पार ( cryptocurrency Market Cap)

क्रिप्टो की कीमतों में तेज़ी से इसका मार्किट कैप पहली बार 3 लाख करोड़ डॉलर यानी के तीन ट्रिलियन डॉलर हो गया है। क्रिप्टो ( cryptocurrency price) में करीब 13,796 करेंसी कारोबार कर रही हैं। ज़्यादातर इन्वेस्टर क्रिप्टो में अपने फोरफोलियो में शामिल करने की सलाह दे रहे हैं।

2030 बिटकॉइन की वैल्यू क्या है? तक भारत में 2.3 अरब डॉलर के कारोबार का अनुमान

फ़िलहाल इंडिया में करीब 1.5 करोड़ इन्वेस्टर्स क्रिप्टोकरेंसी में निवेश कर रहे हैं। इन्वेस्टर्स की संख्या तेज़ी से बढ़ती जा रही है। भारत में क्रिप्टो का मार्केट साल 2030 में 2.5 अरब डॉलर का हो जाएगा ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है। अगले महीने तक बिटकॉइन की कीमत 98 हज़ार डॉलर के पास पहुंचने की उम्मीद है जबकि अगले साल तक इसकी वेल्यू 1.35 लाख डॉलर तक जा सकती है

24 घंटे में 40 प्रतिशत गिरा क्रिप्टोकरंसी का मार्केट कैप, बिटकॉइन भी 48 प्रतिशत कमजोर हुआ

बिजनेस डेस्क. कोरोनावायरस के कारण बाजार में छाई मंदी का असर क्रिप्टोकरंसी पर भी पड़ा है। बीते 24 घंटों में इसकी वैल्यू में 40 प्रतिशत की कमी आई है। कॉइनमार्केटडॉट कॉम (coinmarketcap.com) के अनुसार इसके चलते एक समय इसकी टोटल मार्केट कैप 93.5 लाख बिलियन डॉलर रह गई। वहीं सिंगापुर समय के अनुसार गुरुवार सुबह 10 बजे से शुक्रवार सुबह 10 बजे तक के बीच बिटकॉइन की वैल्यू में भी 48 प्रतिशत की कमी आई थी और 1 बिटकॉइन की वैल्यू 4000 डॉलर हो गई थी। हालांकिं बाद में शुकंवार शाम तक इसकी कीमत वापस 5500 डॉलर प्रति कॉइन पर पहुंच गई। सुप्रीम कोर्ट ने 5 मार्च को भारत में क्रिप्टोकरंसी को मान्यता दी थी।

क्रिप्टोकरंसी क्या है?
क्रिप्टोकरंसी डिजिटल करंसी होती है। ऑनलाइन माध्यम से दुनियाभर में इसका लेन-देन किया जा सकता है। इसे रेग्युलेट करने के लिए एनक्रिप्शन तकनीक इस्तेमाल की जाती है। इसे कोई केंद्रीय बैंक, ऋण संस्था या कोई ई-पैसा संस्थान जारी नहीं करता है। इस लिहाज से वर्चुअल करंसी एक तरीके का अनियंत्रित डिजिटल धन होता है। इसे बनाने वाले ही जारी करते हैं और नियंत्रित करते हैं। फरवरी 2018 तक भारत में क्रिप्टोकरंसी के कारोबार में 50 लाख ट्रेडर और 24 एक्सचेंज सक्रिय थे। दुनिया की कई रेग्युलेटरी संस्थाएं प्रमुख क्रिप्टोकरंसी बिटकॉइन में ट्रेडिंग के खिलाफ चेतावनी दे चुकी हैं, जबकि कुछ देश इसके समर्थन में हैं। 2017 में जापान ने बिटकॉइन को वैध करंसी का दर्जा दिया था।

इस गिरावट से पहले बिटकॉइन में इस साल 50% तेजी
दुनिया में बिटकॉइन सबसे ज्यादा चलने वाली और वैल्यू वाली क्रिप्टोकरंसी है। इस साल इसमें 50% तेजी आ चुकी है। अक्टूबर 2019 के बाद पहली बार बिटकॉइन पिछले दिनों 10,000 डॉलर (7.30 लाख रुपए) पर पहुंचा था। मौजूदा वैल्यू 8,793 डॉलर (6.42 लाख रुपए) है। दूसरी क्रिप्टोकरंसी में भी इस साल तेजी बनी हुई है। इथेरियम की वैल्यू दोगुनी हो चुकी है और रिपल की एक्सआरपी में 75% तेजी आ चुकी है।

दुनिया भर में कितनी क्रिप्टो करेंसी प्रचलन में -
दुनिया भर में बिटक्वाइन, एथेरियम और कार्डनो जैसी करीब लगभग 2,957 क्रिप्टोकरेंसी प्रचलन में है। याहू फाइनेंस के मुताबिक अक्टूबर 2019 तक इन ट्रेड कर रही करेंसियो का मार्केट कैप 16.25 लाख करोड़ रुपए (221 बिलियन डॉलर) था। शीर्ष 10 क्रिप्टो करेंसी कुल मार्केट वैल्यू का लगभग 85 फीसदी रिप्रजेंट करती हैं।

Bitcoin का मूल्य JPMorgan Chase और Visa के संयुक्त Mcap के दोगुने से ज्यादा, जानिए क्या है इसमें उछाल की वजह

फाइनेंशियल सर्विसेज बिजनेस कैटेगरी में बिटकॉइन का वर्तमान मार्केट कैपिटलाइजेशन लगभग एक लाख 16 हजार करोड़ डॉलर के स्तर पर पहुंच गया है.

Bitcoin का मूल्य JPMorgan Chase और Visa के संयुक्त Mcap के दोगुने से ज्यादा, जानिए क्या है इसमें उछाल की वजह

बिटकॉइन (Bitcoin) की बढ़ती स्वीकार्यता की वजह से हाल के दिनों में इसके मूल्य में भारी उछाल आया है.

वैश्विक स्तर पर निवेशकों और सरकारों के बीच बिटकॉइन (Bitcoin) की बढ़ती स्वीकार्यता की वजह से हाल के दिनों में इसके मूल्य में भारी उछाल आया है. इसकी वजह से यह सभी क्रिप्टो के मार्केट कैप (Mcap) यानी दो लाख 70 हजार करोड़ डॉलर के 50 फीसदी से ज्यादा के स्तर पर पहुंच गया है. फाइनेंशियल सर्विसेज बिजनेस कैटेगरी में बिटकॉइन का वर्तमान मार्केट कैपिटलाइजेशन लगभग एक लाख 16 हजार करोड़ डॉलर के स्तर पर पहुंच गया है. यह दो सबसे बड़ी फाइनेंशियल सर्विसेज कंपनियों जेपी मॉर्गन चेज़ (JPMorgan Chase) और वीज़ा (Visa) के संयुक्त मार्केट कैप के दोगुने से ज्यादा है.

CompanyMarketCap.com के आंकड़ों के अनुसार, इस रिपोर्ट को लिखे जाने तक दोनों फर्मों का संयुक्त कारोबार 97,460 करोड़ डॉलर का है, जिसमें जेपी मॉर्गन चेज़ का मार्केट कैप 50,320 बिटकॉइन की वैल्यू क्या है? करोड़ डॉलर और वीज़ा का 47,143 करोड़ डॉलर है. अहम बात यह है कि इथेरियम का मार्केट कैप (53,840 करोड़ डॉलर) भी जेपी मॉर्गन चेस के मार्केट कैप से ज्यादा है. हालांकि, क्रिप्टोकरेंसी और कंपनियों की तुलना नहीं की जा सकती है क्योंकि क्रिप्टो एक पीयर-टू-पीयर सॉफ्टवेयर सिस्टम हैं. CompaniesMarketCap में पब्लिक कंपनियों, कीमती धातुएं जैसे सोना और एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) भी शामिल हैं. जेपी मॉर्गन और वीज़ा के बाद फाइनेंशियल सर्विसेज कैटेगरी में अन्य टॉप कंपनियां क्रमशः बैंक ऑफ अमेरिका (Bank of America), मास्टरकार्ड और PayPal थीं, जिनका मार्केट कैप क्रमशः 39200 करोड़ डॉलर, 33900 करोड़ डॉलर और 26700 करोड़ डॉलर है.

Stock Market: IT शेयरों ने तोड़ा बाजार, सेंसेक्‍स 389 अंक टूटकर बंद, निफ्टी 18497 पर, टॉप लूजर्स में HCL-Infosys

यूएस में ETF की शुरुआत से बिटकॉइन 60 हजार के पार

बिटकॉइन 18 अक्टूबर को 60 हजार डॉलर को पार कर गया था. बिटकॉइन में यह उछाल यूएस सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन द्वारा पहले बिटकॉइन फ्यूचर्स ईटीएफ को मंजूरी देने की वजह से हुआ था. हालांकि, रिपोर्ट लिखे जाने तक यह बिटकॉइन की वैल्यू क्या है? CoinMarketCap के आंकड़ों के अनुसार 62 हजार डॉलर के निशान पर कारोबार कर रहा है. अन्य क्रिप्टोकरेंसी की बात करें तो Altcoins में भी उछाल रहा. पिछले सात दिनों में, Solana में टॉप 10 क्रिप्टो में सबसे ज्यादा 33 फीसदी का ग्रोथ हुआ है. इसके बाद, Polkadot में 26 फीसदी, और Binance Coin की कीमतों में 27 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. वहीं, Meme coins Dogecoin ने 0.89 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की, जबकि Shiba Inu में लगभग 13 प्रतिशत की गिरावट आई.

डिजिटल एसेट मैनेजमेंट फर्म CoinShares के वीकली रिपोर्ट के अनुसार, अक्टूबर के तीसरे सप्ताह में क्रिप्टो फंड और एसेट में निवेश लगभग 150 करोड़ डॉलर दर्ज किया गया था, जबकि सप्ताह के दौरान टोटल क्रिप्टो एसेट अंडर मैनेजमेंट 7920 करोड़ डॉलर के नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

Bitcoin ने दिखाया इन Cryptocurrency को रास्ता, खो रहा मार्केट शेयर

वर्तमान में करीब 8700 क्रिप्टोकरेंसी प्रचलन में है.

Bitcoin ने दिखाया इन Cryptocurrency को रास्ता, खो रहा मार्केट शेयर

Bitcoin समेत अन्य क्रिप्टोकरेंसी में निवेशकों की रूचि लगातार बढ़ी है. बिटकॉइन 2010 में सबसे पहले आने के बाद डिजिटल मुद्राओं में सर्वाधिक प्रचलित है. हालांकि नए क्रिप्टोकरेंसीज के आने से इसके मार्केट शेयर में कमी देखी गई है. आइए समझते हैं क्रिप्टोकरेंसी बाजार को और जानते हैं bitcoin के मार्केट शेयर में सेंध के पीछे क्या और कौन है-

पहले क्रिप्टोकरेंसी और क्रिप्टोकरेंसी बाजार को समझते हैं

क्रिप्टोकरेंसी एक तरह की डिजिटल करेंसी या मुद्रा है. यह मुद्रा किसी सरकार, संस्था या व्यक्ति के हाथों में केंद्रित नहीं रहती. क्रिप्टोकरेंसी माइनिंग तकनीक से विकसित किए जाते हैं. इस प्रक्रिया में गणित की काफी जटिल समस्याओं को सुलझाना होता है. वर्तमान में बिटकॉइन समेत अन्य क्रिप्टोकरेंसी का व्यापार के बिटकॉइन की वैल्यू क्या है? माध्यम के तौर पर काफी सीमित इस्तेमाल होता है. लेकिन निवेश के संदर्भ में भविष्य की संभावनाओं को देखते बिटकॉइन की वैल्यू क्या है? हुए लोग अलग अलग क्रिप्टोकरेंसी खासकर बिटकॉइन में बड़ा भरोसा दिखा रहे हैं.

निवेश के तौर पर देखे जाने के कारण क्रिप्टोकरेंसी का बाजार काफी बड़ा है. जाने माने निवेशकों और बिजनेस जगत के लोगों के आने से आम लोगों का बिटकॉइन एवं अन्य क्रिप्टोकरेंसी की तरफ आकर्षण बढ़ा है. 'कॉइन मार्केट कैप' वेबसाइट के अनुसार वर्तमान में क्रिप्टोकरेंसी बाजार का मार्केट कैपिटलाइजेशन 1 ट्रिलियन 447 बिलियन अमेरिकी डॉलर के करीब है. 5 मार्च, 2021 के अनुसार बिटकॉइन समेत कुल 8697 ऐसी मुद्राएं प्रचलन में हैं.

बिटकॉइन की पकड़ में कितना क्रिप्टो मार्केट?

बिटकॉइन में ट्रेडिंग की शुरुआत जुलाई 2010 में हुई थी. उस समय एक बिटकॉइन की कीमत 0.08 डॉलर हुआ करती थी. मई बिटकॉइन की वैल्यू क्या है? 2013 के अनुसार बिटकॉइन कुल क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में 94% हिस्सा रखता था. फरवरी 2017 में यह मार्केट शेयर घटकर 86% हो गया. नई क्रिप्टोकरेंसीज के बढ़ने से बिटकॉइन की हिस्सेदारी और भी कम होती चली गई. 5 मार्च, 2021 को कॉइनमार्केटकैप के अनुसार यह शेयर करीब 60.7% रह गया है. हालांकि कुल मार्केट के हिस्से के तौर पर बिटकॉइन की भूमिका में कुल करीब 35% की गिरावट देखी गई है, क्रिप्टोकरेंसी का बाजार लगातार बढ़ा है. बड़े बाजार में 60% की हिस्सेदारी भी पहले के 94% हिस्से से कई गुणा अधिक है.

जून 2017 में बिटकॉइन की हिस्सेदारी क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में किसी भी समय के न्यूनतम स्तर पर आते हुए 37% पर पहुंच गई थी.

रेटिंग: 4.56
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 387